गले की खराश से पाएं निजात

0

गर्मी हो या सर्दी, गले की खराश कब आपको अपनी गिरफ्त में ले लेती है पता ही नहीं चलता है| इससे गले में दर्द और सूजन आ जाती है, जिससे आपके प्रतिदिन के कार्य में बाधाएं आती हैं और आप पूरे दिन परेशान रहते हैं| इन बाधाओं से बचने के लिए आजमाएं 6 आसान से घरेलू नुस्खे, जो आप को गले की खराश से राहत दिला सकते हैं |

नमक के गुनगुने पानी से गरारे

यदि गले में खराश हो रही है तो नमक के गुनगुने पानी से गरारे करने से राहत मिल सकती है| यह सबसे पुराना और सरल उपाय माना जाता है| नमक एंटी-बैक्टीरियल होता है, जिससे गले की खराश को आसानी से दूर किया जा सकता है| 1/4  चम्मच नमक को गुनगुने पानी में डालकर दिन में 3 से 4 बार गरारे करने से गले की खराश से छुटकारा पाया जा सकता है |

हल्दी वाला दूध

गले की खराश से राहत पाने के लिए दूध में हल्दी मिलाकर पीने की प्रक्रिया भारत में प्राचीनकाल से चली आ रही है| हल्दी का दूध पीने से गले में खराश से हुई सूजन और दर्द दोनों आसानी से चला जाएगा| आयुर्वेद में हल्दी वाले दूध को प्राकृतिक एंटीबायोटिक के नाम से भी जाना जाता है|

हर्बल चाय

अदरक, दालचीनी और मुलेठी को एक गिलास पानी में 5 से 10 मिनट मिलाने के बाद उसके मिश्रण को दिन में तीन बार पीने से गले में हुई खराश से आसानी से छुटकारा पाया जा सकता है|

शहद

आप गले की खराश से राहत पाने के लिए अदरक का काढ़ा बनाकर भी पी सकते हैं| इसके अलावा एक गिलास गर्म पानी में एक चम्मच शहद और नींबू का रस मिलाकर दिन में तीन बार पीने से सूखी खांसी से आराम पाया जा सकता है| शहद से गले की सूजन और दर्द भी समाप्त हो जाता है|

सेब का सिरका

सेब का सिरका एक तरह का एसिड होता है, जो गले की खराश से जन्मे बैक्टीरिया को खत्म करता है| इसके साथ-साथ यह बलगम का भी निवारण करता है| एक चम्मच एप्पल विनेगर को अपनी हर्बल चाय में मिलाकर पीने से और एक चम्मच विनेगर को ही पानी में मिलाकर गरारे करने से बलगम से छुटकारा पाया जा सकता है|

लहसुन

लहसुन में सल्फर आधारित यौगिक एलेसिन पाया जाता है, जो बैक्टीरिया को खत्म कर सकता है| लहसुन का एक टुकड़ा गाल और दांतों के बीच दबाकर टॉफी की तरह चूसने से गले की खराश और खांसी से राहत पाई जा सकती है|

 

Share.