website counter widget

नाले की पानी से बनाई गई पहली बीयर आते ही आउट ऑफ़ स्टॉक

0

जरा सोचिये की अगर आपसे नाले के पानी से बानी बीयर पीने के लिए कहा जाए तो आप आपको कैसा महसूस होगा। आप उसे हाथ तक लगाना पसंद नहीं करेंगे लेकिन हाल ही में नाले के पानी से एक बीयर तैयार की गई और हैरत की बात यह है की लोगों को यह इतनी पसंद आई की बाज़ार में आने के महज कुछ दिन बाद आउट ऑफ़ स्टॉक हो गई. दरअसल, दुनियाभर में पानी का दुरुपयोग किसी से छिपा नहीं है. भारत में तो हालात बहुत खराब हैं. ऐसे में दुनियाभर के विशेषज्ञ पानी के रिसाइकलिंग पर जोर दे रहे हैं।

खुशखबरी, आ गई कैंसर की दवा!

जानकारी के अनुसार स्वीडन में नाले के पानी को रिसाइकल करके बीयर तैयार किया गया है और अब तक जितनी भी बीयर बनाई गई है उसमें से छह हजार लीटर बाजार में बेची जा चुकी है। विश्व की मशहूर बीयर कंपनी कार्ल्सबर्ग, न्यू कार्नेगी ब्रुअरी और आईवीएल स्वीडिश एनवायरमेंटल रिसर्च इंस्टीट्यूट ने इस बीयर को तैयार किया है। स्वीडिश विशेषज्ञ ने नाले की पानी को साफ करने के लिए इसे काफी सारी प्रक्रियाओं से गुजारा, जिसके लिए नाजुक झिल्ली समेत आरओ की भी मदद ली गई। पानी को एक और बार फिल्टर करने के बाद इसे प्रयोगशाला में जांच के लिए भेजा गया। इन सारी प्रक्रियाओं से पानी को शुद्व करने के बाद ही जल को हॉट बीयर के रूप में तैयार किया गया। रिसाइकल पानी कंपनी को सीवेज वाटर देने के चार हफ्तों के बाद बीयर को तैयार किया गया।

कमर दर्द का रामबाण इलाज हैं ये घरेलू नुस्खे

जिस बीयर को नाले के पानी यानी सीवेज वाटर से तैयार किया गया है, उसका नाम है PU:REST. पूरेस्ट को मई महीने में लॉन्च किया गया था। आईवीएल विशेषज्ञ रुपाली देशमुख के मुताबिक रिसाइकल बीयर बिलकुल साफ है। उन्होंने कहा कि पूरेस्ट का कारोबार से कोई संबंध नहीं है। हमारा योगदान सिर्फ इस बात के लिए है कि पानी का रिसाइकल करके हर तरह की चीजों में इस्तेमाल किया जा सकता है।

गर्म पानी पीने के बेमिसाल फायदे

-Mradul tripathi

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.