आयुर्वेदिक मुलेठी हानिकारक भी है!

0

‘अति सर्वत्र वर्जयेत्’ शास्त्र सांगत यह बात हर चीज पर लागु होती है चाहे वह आयुर्वेदिक औषधि (Ayurvedic medicine) भी क्यों न हो | यदि आप आयुर्वेदिक और हर्बल चीजों का सेवन कर रहे हैं तो आप स्वस्थ रहेंगे लेकिन हर्बल प्रॉडक्ट्स (Herbal Products )  के अति सेवन के भी अपने साइड इफेक्ट्स हो सकते है| कनेडियन मेडिकल असोसिएशन नाम के जर्नल में प्रकाशित एक नई स्टडी में इसी से जुडी एक चेतावनी दी गई है कि हर्बल यानी जड़ी-बूटी से बनी चीजों के भी साइड इफेक्ट्स (Disadvantage Of Mulethi) होते हैं और अगर इनका बहुत ज्यादा मात्रा में सेवन किया जाए तो यह सेहत को नुकसान भी पहुंचा सकती हैं|

स्टडी में यह बात एक केस स्टडी के आधार पर कही गई है| स्टडी में कनाडा में पिछले दिनों एक व्यक्ति को हाई ब्लड प्रेशर की शिकायत के बाद इमरजेंसी की स्थिति में अस्पताल में भर्ती कराया गया। जब उनसे अस्पताल में पूछा गया कि उन्होंने क्या खाया या पीया था तो मरीज ने बताया कि उन्होंने मुलेठी की जड़ (Disadvantage Of Mulethi) से बनी होममेड चाय का सेवन किया था जिसके बाद हाई ब्लड प्रेशर की स्थिति बन गई|

दिल को रखना है स्वस्थ तो पर्याप्त नींद है जरूरी


इस बारे में कनाडा के मेकगिल यूनिवर्सिटी के जीन पेरी फैलेट कहती हैं- हर्बल प्रॉडक्ट्स का भी अगर बहुत ज्यादा मात्रा में सेवन किया जाए तो उसके भी साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं| वैसे प्रॉडक्ट्स जिसमें मुलेठी की जड़ का इस्तेमाल किया जाता है उसके सेवन से ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है जिससे सिरदर्द और चेस्ट पेन की दिक्कत भी हो सकती है| फैलेट कहते हैं कि अगर मुलेठी की जड़ (Disadvantage Of Mulethi) से बने प्रॉडक्ट्स का ज्यादा सेवन किया जाए तो बीपी बढ़ने के साथ-साथ शरीर में वॉटर रिटेन्शन भी हो जाता है और पोटैशियम का लेवल भी बेहद कम हो जाता है|

तरबूज का सेवन इन लोगों के लिए हो सकता है जानलेवा

स्टडी में शामिल अनुसंधानकर्ताओं ने बताया कि कनाडा के अस्पताल में जिस मरीज को भर्ती किया गया था उनकी उम्र 84 साल थी और वह मुलेठी की जड़ ( root tea) से बनी होममेड चाय का लंबे समय से सेवन कर रहे थे| उनका बीपी हद से ज्यादा बढ़ा हुआ था जिस वजह से उन्हें सिर में दर्द, चेस्ट पेन, बहुत ज्यादा थकान और पैरों में फ्लूइड रिटेन्शन की समस्या हो गई थी| अस्पताल में मरीज ने डॉक्टरों को बताया कि वे पिछले 2 सप्ताह से हर दिन 1 या 2 गिलास होममेड मुलेठी की चाय का सेवन कर रहे थे| ऐसे में यह बात एक बार फिर सिद्ध हुई है कि ‘अति सर्वत्र वर्जयेत्’ है | अच्छी चीजे भी इससे अछूती नहीं है |

Gadgets के दीवाने पढ़ें यह ख़बर

Share.