डिप्रेशन है इन बीमारियों का जनक

0

डिप्रेशन इन दिनों बढ़ती एक सबसे बड़ी समस्या है और एक स्टडी ( Study on depression ) के अनुसार डायबीटीज-बीपी जैसी लंबी बीमारियों का इससे सीधा नाता है | स्टडी में यह बात सामने आई है कि जिन महिलाओं में डिप्रेशन ( Study on depression ) के लक्षण होते हैं उनमें कुछ अन्य बीमारियां होने की संभावना तुलनात्मक दृष्टि से ज्यादा होती है| इस स्टडी में महिलाओं की बीमारियों के पहले और बाद में डिप्रेशन के लक्षण पर स्टडी किया गया है |

लीड रीसर्चर्स में शामिल Xiaolin Xu ने कहा, ‘इन दिनों कई महिलाएं कई क्रोनिक बीमारियों से पीड़ित हैं| डायबीटीज, कैंसर, दिल की बीमारी आजकल तेजी से बढ़ रही हैं | हमने इस बात पर स्टडी की कि डिप्रेशन के लक्षण के पहले और बाद में ये बीमारियां कैसे विकसित होती हैं|

कई रोगों से बचा सकता है पान खाना

उन्होंने कहा, इस रिसर्च में सामने आए परिणाम अब मानसिक और शारीरिक बीमारियों का इलाज करने में मदद करेंगे| इस रिसर्च में यह बात भी सामने आई कि जिन महिलाओं में डिप्रेशन और बीमारियां दोनों थीं, वे कम कमाने वाले परिवार से ताल्लुक रखती थीं, मोटापा का शिकार थीं या फिर तंबाकू और शराब का सेवन करती थीं| वैसे आम जिंदगी में मौजूदा हालत में डिप्रेशन का शिकार होने वेले लोगों की तादात लगातार बढ़ रही है | ऐसे में दृढ मानसीकता से मुश्किलों का सामना करना बेहद आवश्यक है |

दलिया है गुणों की खान, फायदे जानकर चौंक जाएंगे

स्टडी में पाया गया कि -( Study on depression ) 
43.2 प्रतिशत महिलाओं ने बताया कि उनमें डिप्रेशन के लक्षण थे|
इनमें से सिर्फ आधी महिलाओं को डिप्रेशन क्लिनिकली डायग्नॉज हुआ और उसका इलाज हुआ|
डिप्रेशन का शिकार होने के पहले इन महिलाओं में क्रोनिक बीमारियों का खतरा 1.8 गुणा ज्यादा पाया गया|
डिप्रेशन के दौरान भी महिलाओं में इन बीमारियों का सामान्य महिलाओं की तुलना में 2.4 प्रतिशत ज्यादा रिकॉर्ड पाया गया |
डिप्रेशन और क्रोनिक बीमारियां समान जेनेटिक या शारीरिक कारणों से संबंध रखती हैं|
रिसर्चर्स के अनुसार शरीर में सूजन डिप्रेशन और बीमारियां दोनों से संबंध रखता है|
डायबीटीज और हाइपरटेंशन जैसी बीमारियां भी डिप्रेशन से संबंधित हैं|

घातक बीमारी का संकेत हो सकता है गंजापन

Share.