website counter widget

किडनी स्टोन होने की वजह और इलाज

0

आज के समय में इंसान को कोई न कोई बीमारी जरूरी होती है। इन अलग-अलग बीमरियों की सिर्फ एक ही वजह है। आज के समय में हमारी लाइफस्टाइल पूरी तरह से बदल चुकी है। इसी वजह से लोगों को कई तरह की बीमारियों का शिकार होना पड़ रहा है। आज के दौर में कई ऐसी बीमारियां हैं जा सिर्फ शरीर के एक अंग को नहीं बल्कि पूरे शरीर को ही प्रभावित कर देती हैं। कई बार हम छोटी-छोटी समस्याओं पर ध्यान नहीं देते तो वही आगे चलकर गंभीर बीमारी का रूप ले लेती है। ऐसी ही समस्याओं में एक समस्या है किडनी स्टोन की। किडनी स्टोन की समस्या आज के दौर में बेहद ही आम हो गई है। लेकिन यदि इसका समय रहते इलाज न किया जाए तो यह बेहद ही खतरनाक रूप ले सकती है। तो चलिए जानते हैं इसके बारे में।

घने और शाइनी बालों के लिए अपनाएं यह उपाय

Related image

किडनी स्टोन की समस्या हमारी किडनी से जुड़ी होती है। बता दें कि हमारी किडनी में धीरे-धीरे कुछ सॉल्ट जमा होता है। यही सॉल्ट जमा होते-होते ठोस खंड का रूप ले लेता है। इसे ही किडनी स्टोन कहा जाता है। यह बेहद ही छोटा होता है। लेकिन यदि इस पर ध्यान नहीं दिया जाए या फिर उचित इलाज न किया जाए, तो आगे चलकर यह बड़ा रूप ले सकता है। इसका मुख्य कारण यही है। किडनी में कुछ तरह के तत्व जमा होने के कारण किडनी स्टोन होता है। डॉक्टरों का कहना कि, महिलाओं की तुलना में पुरुषों को ज्यादा किडनी स्टोन होता है। हालांकि इसका कारण अनुवांशिकता भी हो सकता है।

कई समस्याओं का अचूक उपाय है ऑर्गन आयल

Image result for किडनी स्टोन

इसके अलावा और भी कई अन्य कारण हो सकते हैं जिसकी वजह से किडनी स्टोन हो सकता है। इनमे प्रमुख रूप से हाइपरटेंशन, मोटापा, मधुमेह और आंतों से जुड़ी कोई अन्य समस्या शामिल है। पथरी की अन्य समस्या का समाधान दवा द्वारा किया जाता है। अगर पथरी बड़ी हो जाए तो फिर इसके लिए ऑपरेशन करना जरूरी हो जाता है। किडनी में पथरी होना थोड़ा सा गंभीर मामला होता है। लेकिन आजकल नई तकनीक ने ऑपरेशन की सम्भावना को काफी हद तक कम कर दिया है। अब पथरी को निकालने के लिए ऑपरेशन की जरूरत नहीं पड़ती। लेजर थेरेपी तकनीक ने इसके इलाज को बेहद आसान कर दिया है। इस तकनीक की सहायता से अब किसी इंसान को चीरा नहीं लगवाना पड़ता।

Image result for laser treatment for kidney stone

किडनी में पथरी होने से इंसान को कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इसकी वजह से व्यक्ति को पेशाब में दिक्कत, पेट में दर्द आदि समस्याओं का सामना करना पड़ता है। अगर पथरी शुरूआती दौर में है तो चिकित्सक दवाओं द्वारा इसका इलाज करता है। अगर पथरी बड़ी है तो फिर लेजर ट्रीटमेंट की सहायता से इसका इलाज किया जाता है।

बच्चों में एनीमिया का सर्वाधिक खतरा, पढ़ें यह खबर

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.