website counter widget

election

ठीक हो सकता है अस्थमा, एम्स ने ढूंढ निकाला नया इलाज

0

देश में प्रदूषण का स्तर लगातार बढ़ता जा रहा है| प्रदूषण के कारण राजधानी दिल्ली का हाल बेहाल है| ऐसे कई लोग सांस के रोग यानी अस्थमा से पीड़ित हो चुके हैं| एनसीआर में दमघोंटू हवा में सांस ले रहे लोगों के लिए अब एम्स एक राहत की खबर लेकर आया है| कहा जा रहा है कि एम्स एक ऐसा अस्पताल है, जहां दमा का इलाज मुफ्त में किया जाएगा|

जानकारी के अनुसार, दिल्ली की हवा की गुणवत्ता लगातार गिरती जा रही है| हवा की क्वालिटी, जो 50 होनी चाहिए वह 400 के पार जाकर सीवियर कैटेगरी तक पहुंच चुकी है| बढ़ती समस्या को देखते हुए एम्स ने मरीज़ों के लिए ब्रॉंकियल थर्मोप्लास्टी तकनीक से इलाज शुरू किया है| उन्होंने दावा किया है कि यदि कोई दवा या इनहेलर से भी अस्थमा के मरीजों को फायदा नहीं हो रहा है तो उनके लिए ब्रॉंकियल थर्मोप्लास्टी तकनीक कारगर रहेगी| इस तकनीक से एक मरीज का इलाज भी किया गया है|

इस तकनीक में ट्यूब के ज़रिये एक कैथेटर में लगी वायर सांस की नली तक पहुंचाई जाती है| इससे वायर से सांस की नली को गर्मी दी जाती है| एक बार में इसमें कम से कम एक घंटे का समय लगता है| तीन हफ्ते के अंतर में इसे दोहराना चाहिए| ऐसा लगभग तीन बार करने से मरीज को राहत मिलने लगती है| ये प्रोसीजर मरीज को बेहोश करके की जाती है| अभी इस इलाज को दिल्ली में पूरा फ्री रखा गया है| अभी यह तकनीक देशभर में सिर्फ 6 से 8 प्राइवेट अस्पतालों के पास है, लेकिन इसका खर्च 5 से 7 लाख रुपए तक आता है|

Share.