एसी-कूलर से बढ़ता है मोटापा

0

कई बार एसी में रहना जरूरत से ज्यादा आदत बन जाती है| गर्मी तेज हो या कम, कुछ लोगों को हर वक्त एसी में रहने की आदत होती है| घर, ऑफिस और कार, हर जगह एसी की जरूरत महसूस होती है| ऐसे लोगों के लिए बगैर एसी के थोड़ी देर भी रहना मुश्किल हो जाता है, लेकिन यह आदत सेहत पर कई तरह के नकारात्मक असर डालती है| हालांकि गर्मियों में पूरी तरह से एसी और कूलर के इस्तेमाल से बचा नहीं जा सकता, लेकिन इसका कम से कम इस्तेमाल ही बेहतर है|

एसी के अधिक उपयोग से हमें कई तरह के नुकसान होते हैं-

बार-बार बीमार

एक रिसर्च के अनुसार, आपको आराम पहुंचाने वाला एसी, स्वास्थ्य के लिए बिल्कुल भी अच्छा नहीं है| एसी, हमारे आसपास एक आर्टिफिशल टेम्परेचर बनाता है, जो इम्यून सिस्टम के लिए खतरनाक है| यदि आप बार-बार बीमार पड़ते हैं तो उसका एक यह भी कारण हो सकता है| वे लोग जो एसी में 4 घंटे से ज्यादा देर तक बैठते हैं, उन्हें साइनस होने का खतरा रहता है क्योंकि ठंडी हवा म्यूकस ग्रंथि को कठोर बना देती है|

सांस लेने में तकलीफ और फंगल इन्फेक्शन

कूलर-एसी की ज्यादा ठंडक में बिना ओढ़े सोने से न सिर्फ दमा के मरीजों को बल्कि सामान्य व्यक्तियों की छाती में भी ठंडक या फंगल इंफेक्शन से नुकसान पहुंचता है| प्राकृतिक वातावरण में रहने और उसे सहन करने की आदत डालनी होगी| बाहर और कमरे के भीतर के तापमान की बात करें तो इनमें आदर्श रूप से 4 डिग्री से ज्यादा का अंतर नहीं होना चाहिए| यदि यह अंतर बहुत ज्यादा है तो सीधे तौर पर बदलते तापमान में आवाजाही नहीं करनी चाहिए|

जोड़ों में दर्द

एसी और कूलर से निकलने वाली हवा कई बार शरीर के जोड़ों में दर्द पैदा करती है| गर्दन, हाथ और घुटनों का दर्द ठंडी हवा लगने की वजह से बढ़ जाता है, जो कि यदि लंबे समय तक बना रहे, तो बड़ी बीमारी का कारण भी बन सकता है|

बढ़ाता है मोटापा

ज्यादा देर तक एसी या कूलर में बैठने से मोटापा बढ़ता है| दरअसल, ठंडी जगह पर हमारे शरीर की ऊर्जा ज्यादा खर्च नहीं होती है, जिससे चर्बी चढ़ने लगती है|

ड्राय होती है स्किन

ज्यादा समय तक एसी और कूलर में बैठे रहने से स्किन ड्राय हो जाती है इसलिए 1-2 घंटे के बीच में मॉइश्चराइजर लगाते रहें, ताकि स्किन में नमी की कमी न हो|

Share.