जानें ‘शिवगामी’ के जीवन से जुड़े अनसुनी बातें

0

बॉलीवुड अभिनेत्री राम्या कृष्णन का आज जन्मदिन है| उनका जन्म 15 सितंबर 1970 को चेन्नई में हुआ था। उन्होंने 13 साल की आयु से एक्टिंग करना शुरू कर दिया था। राम्या ने अपने करियर की शुरुआत साउथ फिल्म इंडस्ट्री से की थी। राम्या की पहली बॉलीवुड फिल्म 1988 में दयावान थी, जिसमें उनके साथ विनोद खन्ना और माधुरी दीक्षित मुख्य भूमिका में थे। फिल्म ‘बाहुबली’ राम्या के लिए माइलस्टोन फिल्म है। इस फिल्म से वे शिवगामी के नाम से मशहूर हो गई हैं। राम्या ने बॉलीवुड में 10 फिल्मों में काम किया। उन्होंने बॉलीवुड में पांच साल (1993-1998) तक काम किया। इस दौरान उन्होंने नाना पाटेकर, विनोद खन्ना, शाहरुख खान और अमिताभ बच्चन जैसे मशहूर सुपरस्टार्स के साथ काम किया।

राम्या कृष्णन की हिंदी फिल्में

– वजूद

– बड़े मियाँ छोटे मियाँ

– शपथ

– लोहा

– चाहत

– बनारसी बाबू

– क्रिमिनल

– परम्परा

– खलनायक

– दयावान

राम्या कृष्णन के बेहद प्रभावशाली डायलॉग

– मेरा वचन ही मेरा शासन है।

– अमरेंद्र बाहुबली नहीं रहे, अब आपके महाराज हैं महेंद्र बाहुबली।

– विशाल हृदय है मेरे बेटे का, उसकी छोटी सी मनोकामना पूरी न कर पाऊं तो मां कैसी।

– भल्ला, राजा जब राजमहल से बाहर निकलते हैं, तभी उनको प्रजा के सुख-दुख का पता चलता है।

– ‘बाहुबली’ की महानता को समझकर तुम आकाश से भी ऊंची हो गई| जिस बेटे को दूध पिलाया, उसे मारकर मैं तुम्हारे चरणों में आ गिरी हूं।

– दिए हुए वचन के लिए, सत्य एवं न्याय के लिए, धर्म स्थापना के लिए परमात्मा के विरुद्ध जाने से भी कभी भयभीत न होना, यही क्षत्रिय धर्म है।

Share.