Video: सुनिए गीतों के शहंशाह हेमंत दा के सदाबहार गीत

0

सदाबहार गीतों के शहंशाह हेमंत दा के गीतों को शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति होगा, जो नहीं जनता होगा| उन्होंने फ़िल्मी जगत को कई गीतों की सौगात दी| फिल्म ‘इरादा’ के लिए पहली बार हिंदी में गीत गाया, जिसमें पंडित अमरनाथ ने संगीत दिया था और अजीज कश्मीर ने गाने के बोल लिखे थे| 1951 में फिल्मिस्तान के बैनर में बनने वाली अपनी पहली हिन्दी फिल्म ‘आनंद मठ’ के लिए हेमेन गुप्ता ने हेमंत कुमार से संगीत देने की पेशकश की| फिल्म की सफलता के बाद हेमंत कुमार बतौर संगीतकार फिल्म इंडस्ट्री में स्थापित हो गए| इस फिल्म में लता मंगेशकर की आवाज में गाया हुआ ‘वंदे मातरम’ आज भी श्रोताओं को भावावेश में ला देता है|

उन्होंने कई गीत लिखे, गाए और फिल्म में भी अभिनय किया| वे वर्ष 1989 में बांग्लादेश के ढाका में ‘माइकल मधुसूदन अवॉर्ड’ लेने गए| उन्हें वहां से भारत लौटने के बाद दिल का दौरा पड़ा और 26 सितंबर 1989 को उन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया|

आज हेमंत कुमार की पुण्यतिथि पर सुनते हैं उनके कुछ सदाबहार गीत 

‘है अपना दिल तो आवारा…’

https://youtu.be/9OatE8pfRFo

‘जाने वो कैसे लोग थे…’

https://youtu.be/EhDCAmXKBBs

‘मन डोले मेरा तन डोले…’

‘या दिल की सुनो…’

‘तेरी दुनिया में जीने से…’

https://youtu.be/XHuSP_uvL4o

‘न ये चांद होगा न तारे रहेंगे…’

https://youtu.be/AfpMM6O1qsc

‘आओ बच्चों तुम्हें दिखाएं झांकी हिंदुस्तान की…’

https://www.youtube.com/watch?v=lWsGPxp4s1w

‘वन्दे मातरम…’

https://www.youtube.com/watch?v=iGWqGtPFbDQ

‘इंसाफ की डगर पे बच्चों दिखाओ चल के…’

फिज़ा में गूंजते आवाज़ के जादूगर हेमंत दा के गीत

Share.