Happy B’day: दर्जी के बेटे ने खलनायक बनकर बनाई ख़ास पहचान

0

बॉलीवुड के जाने-माने खलनायक शक्ति कपूर आज अपना 66वां जन्मदिन मना रहे हैं| अपने 43 वर्षों के फ़िल्मी करियर में उन्होंने विलेन के साथ-साथ कई कॉमिक किरदार भी निभाए| अपने करियर के दौरान उन्होंने करीब 700 फिल्मों में अभिनय किया| किसी ने अंदाजा भी नहीं लगाया था कि, दर्जी का बेटा बॉलीवुड में अपने अभिनय के दम पर फिल्म जगत में अपनी एक ख़ास पहचान बना लेगा| शक्ति कपूर के पिता दिल्ली के करोल बाग में सिलाई का काम करते थे|

बचपन में शक्ति कपूर का पढ़ाई में मन नहीं लगता था और वे काफी शरारती भी थे| अपनी बढती शरारतों के कारण वे तीन बार स्कूल से निकाले जा चुके थे| कई बार वे स्कूल में बच्चों से झगड़ा करते भी पकड़े गए|

जिस वजह से उन्हें बार-बार स्कूल बदलने पड़ते थे|

शक्ति कपूर के पिता चाहते थे कि शक्ति उनके परिवार के व्यापार में उनका हाथ बटाएं और दुकान पर काम करें, लेकिन शक्ति को ये काम पसंद नहीं था और वे एक ट्रेवल एजेंट बनना चाहते थे| वे ट्रेवल एजेंट तो नहीं बन सके लेकिन उनकी इस चाहत ने उनके करियर का रुख मुंबई की ओर मोड़ दिया| शक्ति के कुछ दोस्तों का मानना था कि वह एक्टिंग अच्छी कर लेते हैं इसलिए उन्हें फिल्मों में ट्राई करना चाहिए| दोस्तों के कहने के बाद ही शक्ति ने मॉडलिंग शुरू की थी| उनके एक दोस्त ने उनके एक्टर बनने से पहले ही उनका पोस्टर अपनी दुकान में लगा लिया था|

एक्सीडेंट ने बदली ज़िन्दगी

एफटीआईआई से अपना कोर्स पूरा करने के बाद शक्ति कपूर फिल्मों में काम के लिए स्ट्रगल कर ही रहे थे| एक दिन अचानक उन्हें एक कार ने टक्कर मार दी| जिससे शक्ति की गाड़ी को काफी नुकसान हुआ| नुकसान होने के बाद शक्ति ने गाड़ी वाले से हरजाना मांगा| जिस गाड़ी से शक्ति की गाडी टकराई थी वह गाड़ी किसी और कि बल्कि अभिनेता फिरोज खान की थी| उस वक्त फिरोज खान अपनी फिल्म ‘कुर्बानी’ बनाने की तैयारी कर रहे थे और विलेन की तलाश कर रहे थे|

हादसे के बाद फिरोज वहां से चले तो गए लेकिन उनके जेहन में शक्ति कपूर कहीं न कहीं रह गए थे| जिसके बाद उन्होंने तय किया कि उनकी फिल्म में शक्ति कपूर विलेन बनेंगे|

Share.