गूगल ने डूडल बनाकर किया मीना कुमारी को याद

0

अभिनेत्री मीनाकुमारी किसी पहचान की मोहताज नहीं | हिंदी सिनेमा में ‘ट्रेजडी क्वीन’ के नाम से मशहूर मीनाकुमारी का आज 85वां जन्मदिन है| इस ख़ास मौके पर गूगल ने डूडल बनाकर उन्हें श्रद्धांजलि दी है| 60-70 के दशक की सबसे खूबसूरत अभिनेत्रियों में से एक मीनाकुमारी का असली नाम बहुत कम लोग जानते हैं| उनका असली नाम महजबीन था| उन्हें हिंदी सिनेमा की महिला गुरुदत्त भी कहा जाता था| 1 अगस्त 1932 को जन्मी मीनाकुमारी की फिल्में आज भी लोग देखना पसंद करते हैं|

‘ट्रेजडी क्वीन’ का अभिनय इनता दमदार था कि हर कोई उनकी अदाओं का कायल बन जाता था| करीब तीन दशकों तक बॉलीवुड पर राज करने वाली अभिनेत्री मीनाकुमारी ने कई फिल्मों में  ऐसा अभिनय किया था, जिसे देखकर दर्शक भावुक हो जाते थे| उनका परिवार पहले से ही कला के क्षेत्र से जुड़ा था| उनके पिता अली बख्श पारसी रंगमंच के कलाकार थे और मां थियेटर में अभिनय करती थीं| मीनाकुमारी का बचपन आर्थिक संकटों के बीच गुजरा था| उन्होंने असल जीवन में भी कई दर्द सहे| उन्होंने ज्यादातर दुख भरी कहानियों पर आधारित फिल्मों में ही काम किया है इसलिए उन्हें हिंदी फिल्मों की ‘ट्रेजडी क्वीन’ भी कहा जाता है|

अभिनेत्री मीनाकुमारी ने साहब बीवी और गुलाम’, ‘पाकीज़ा’, ‘गोमती के किनारे’, ‘परिणीता’, ‘फूल और पत्थर’ और ‘एक ही भूल’ जैसी बेहतरीन फिल्में दीं|

वर्ष 1962 में आई उनकी फिल्म ‘साहब बीवी और गुलाम’ में निभाए ‘छोटी बहू’ के किरदार की ही तरह अभिनेत्री मीनाकुमारी असल ज़िंदगी में भी काफी ज्यादा शराब पीती थीं| शादीशुदा ज़िंदगी में तनाव और अपने पिता से आपसी मतभेदों के कारण उनका शराब पीना बढ़ता गया| इसका उनकी सेहत पर भी काफी बुरा प्रभाव पड़ा और उन्हें लीवर सिरोसिस की बीमारी हो गई| इसी बीमारी की वजह से 31 मार्च 1972 को उनकी मृत्यु हो गई|

अभिनेत्री मीनाकुमारी के 50 बेहतरीन नगमे

https://www.youtube.com/watch?v=Nq0TKmbp7No

Share.