देर रात तक म्यूजिकल प्रोग्राम और लाउड स्पीकर चलाने का आरोप

0

हिंदी सिनेमा के एक जाने माने पार्श्व गायक केदारनाथ भट्टाचार्य उर्फ़ ‘कुमार सानू’ पर एफआईआर दर्ज की गई है। उनके खिलाफ बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में एफआईआर दर्ज की गई है। कुमार सानू मिठनपुरा के स्कूल में सोमवार रात को म्यूजिकल प्रोग्राम करने पहुंचे थे। कार्यक्रम देर रात तक चला और गायक सानू के प्रोग्राम में तेज आवाज के स्पीकर लगाए गए थे, जिसके कारण आसपास के लोगों को काफी परेशानी हुई। इसी के चलते स्थानीय लोगों द्वारा एआईआर दर्ज करवाई गई है। इससे कुमार सानू की मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

मुजफ्फरपुर जिले के मिठनपुरा थाने में एफआईआर दर्ज की गई है। मिठनपुरा थाने में इस मामले में प्रोग्राम के आयोजक अंकित कुमार और गायक सानू के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया है कि अंकित कुमार ने एक म्यूजिकल प्रोग्राम का आयोजन किया था जिसमें बॉलीवुड प्लेबैक सिंगर कुमार सानू को बुलाया गया था। आयोजन स्थल पर बड़े स्पीकर लगाए गए थे जो देर रात तक चलते रहे इस वजह से आसपास के लोगों को रात में सोने के दौरान काफी तकलीफ हुई।

कुमार सानू ने अपने करियर की शुरुआत वर्ष 1989 में शुरू की थी। नब्बे के दशक में कुमार सानु के गाये गाने बहुत पसंद किये गए। उनके पिताजी स्वयं एक अच्छे गायक और संगीतकार थे। कुमार सानू को पहला ब्रेक जगजीतसिंह ने दिया था। 1989 में आई फिल्म ‘जादूगर’ के लिए कुमार सानू ने अपना पहला गीत गया। उन्होंने चौदह हज़ार गाने गाये हैं साथ ही एक दिन में 28 गाने रिकॉर्ड करवाने वाले वह एकमात्र गायक हैं। 2009 में इन्हें भारत सरकार द्वारा पद्मश्री से सम्मानित किया जा चुका है। फिल्मो में अपने दमदार गांव के लिए इसे फ़िल्मफ़ेयर पुरस्कार भी दिया गया है।

वर्ष 2014 में रिलीज यशराज फिल्म निर्मित ‘दम लगा के हईशा’ फिल्म में सानू ने गीत ‘दर्द करारा’ गाया जो बहुच पसंद किया गया।

Share.