वहीदा रहमान जन्मदिन विशेष : मौत पर खत्म हुई वहीदा रहमान और गुरु दत्त की मोहब्बत

0

सिनेमा जगत में 50 और 60 के दशक में वहीदा रेहमान (Waheeda Rehman Bithday Special) का नाम हर किसी की जुबान पर था। अदब, अदा और अदाकारी ने मिलकर वहीदा (Waheeda Rehman) को बॉलीवुड (Bollywood) की सबसे खूबसूरत हीरोइन बना दिया। 3 फरवरी 1938 को उनका जन्म तमिलनाडु में हुआ था। वहीदा (Waheeda Rehman) को बचपन से ही संगीत और नृत्य (Dance and Music) का शौक था। वो बचपन में डॉक्टर बनने का सपना देखती थीं। लेकिन आर्थिक तंगी के चलते उन्हें फिल्मों में काम करना करना पड़ा। उन्हें वर्ष 2013 में भारतीय फिल्म व्यक्तित्व के लिए शताब्दी पुरस्कार, फिल्मफेयर लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड (Filmfare Lifetime Achievement Award) से भी सम्मानित किया जा चुका है, इसके अलावा उन्होंने अपने फिल्मी करियर में फिल्मफेयर लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड (Filmfare Lifetime Achievement Award), बेस्ट एक्ट्रेस नेशनल अवार्ड (Best Actress National Award) और बतौर सर्वश्रेष्ठ एक्ट्रेस दो फिल्मफेयर अवार्ड्स जीते हैं। उन्हें विभिन्न मीडिया आउटलेट्स द्वारा बॉलीवुड की “सबसे खूबसूरत” अभिनेत्री के रूप में उद्धृत किया गया है।

जानिये लता मंगेशकर की आवाज कैसे हुई इतनी सुरीली

चौदहवीं का चांद हो, या आफताब हो  (Waheeda Rehman Bithday Special)

जो भी हो तुम खुदा कि कसम, लाजवाब हो।

मोहम्मद रफी (Mohammad Rafi)  की आवाज में ये गाना जब भी हमारे कानों में पड़ता है तो दिमाग में सीधे खूबसूरत अदाकारा वहीदा रहमान (Waheeda Rehman Bithday Special)  की तस्वीर उभर कर आ जाती है। सच में इस गाने को देखकर यही लगता है इसे सिर्फ और सिर्फ वहीदा रहमान के लिए लिखा गया। यूं तो वहीदा ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत तेलुगु सिनेमा से की थी, लेकिन उन्हें हिंदी सिनेमा में पहला ब्रेक मिला फिल्म सीआईडी (CID) से मिला , इस फिल्म में उन्होंने नेगेटिव भूमिका अदा की, इस फिल्म में वहीदा (Waheeda Rehman)  के साथ गुरु दत्त  (Guru Dutt) नजर आये थे,  गुरु दत्त और वहीदा ने मिलकर कई फिल्मों में काम किया जिनमे  प्यासा, कागज के फूल (Kagaaz Ke Phool) , चौदहवीं का चाँद (Chaudhvin Ka Chand) , साहिब-बीवी और गुलाम (Sahib Bibi Aur Ghulam) शामिल है। गुरुदत्त (Guru Dutt)  की फिल्म ‘बागी’ सुपरहिट रही थी। इसके बाद गुरुदत्त (Guru Dutt)  और वहीदा रहमान (Waheeda Rehman Bithday Special)  की जोड़ी फिल्मी परदे पर कमाल दिखाने लगी। इस बीच फिल्मी गलियारों में ये खबर भी उड़ने लगी कि गुरुदत्त (Guru Dutt) अपनी पत्नी गीता (Guru Dutt wife Gita) के ज्यादा वहीदा रहमान (Waheeda Rehman) के साथ वक्त बिताते हैं। दोनों के अफेयर की खबरें आम हो चली तो ये बात गीता रॉय (Gita Roy)  को भी पता चली।

पाकिस्तान ने की हद पार, जन्नत को बना दिया आतंकियों का अड्डा

गुरु दत्त (Guru Dutt) की ऐतिहासिक फिल्म ‘प्यासा’ (Pyaasa) जब बन रही थी तभी गीता और गुरु दत्त (Guru Dutt) के बीच दूरियां आनी शुरू हो गईं। कहा जाता है गुरु दत्त (Guru Dutt) अपनी हीरोइन वहीदा रहमान (Waheeda Rehman Bithday Special)  के प्रति आकर्षित हो रहे थे। अब गुरु दत्त (Guru Dutt) और गीता के रिश्ते में प्यार कम शक ज्यादा रह गया था। दोनों के बीच शक इस हद तक बढ़ गया कि एक दिन गुरु दत्त (Guru Dutt)  को एक चिट्ठी मिली। चिट्ठी गीता ने लिखी थी लेकिन वहीदा के नाम पर। उसमें कहा गया था कि, मैं तुम्हारे बिना नहीं रह सकती। अगर तुम मुझे चाहते तो आज शाम को साढ़े छह बजे मुझसे मिलने नारीमन प्वॉइंट पर आओ। तुम्हारी वहीदा। जब गुरु दत्त उस जगह पहुंचे तो उन्होंने देखा कि गीता और उनकी दोस्त कार की पिछली सीट पर बैठी किसी को खोज रही हैं। घर पहुंच कर दोनों में इस बात पर खूब झगड़ा हुआ और दोनों के बीच बातचीत तक बंद हो गई। सत्या सरण अपनी किताब में लिखती हैं- दत्त और वहीदा (Waheeda Rehman Bithday Special)  के रिश्ते के पनपने का सबसे बड़ा कारण गीता थीं। इस रिश्ते के टूटने का कारण भी गीता ही बनीं।

Waheeda Rehman Bithday Special | Her Love Story With Guru Dutt वर्ष 1974 में उन्हें सह-अभिनेता शशि रेखी (Shashi Rekhi) ने वहीदा रहमान (Waheeda Rehman Bithday Special) के सामने शादी का प्रस्ताव रखा, जिसे उन्होंने सहर्ष स्वीकार कर लिया,  और करियर के पीक पॉइंट पर उन्होंने शादी रचा ली। उनका वैवाहिक जीवन काफी सुखमय रहा, लेकिन वर्ष 2000 में पति शशि रेखी की मौत ने उन्हें एकबार अकेला कर दिया। पति की मृत्यु के बाद वहीदा (Waheeda Rehman) ने एक बार फिल्मों में काम करना शुरू कर दिया। जिसके बाद वह फिल्म वाटर, रंग दे बसंती, दिल्ली 6 जैसी फिल्मों में नजर आयीं।

Waheeda Rehman Bithday Special | Her Love Story With Guru Dutt इसके अलावा आपको बता दें की वहीदा रहमान  (Waheeda Rehman Bithday Special) को मध्य प्रदेश की संस्कृति मंत्री विजयलक्ष्मी (Culture Minister Vijayalakshmi Sadho) साधौ 4 फरवरी को ‘किशोर कुमार सम्मान (Kishore Kumar Award 2018)’ से सम्मानित करेंगी. सिंगर किशोर कुमार (Kishore Kumar) के नाम पर दिया जाने वाला यह पुरस्कार मध्य प्रदेश सरकार द्वारा दिया जाता है. मध्य प्रदेश जनसंपर्क विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि निर्णायक मंडल द्वारा वहीदा रहमान को यह सम्मान देने का निर्णय सर्वसम्मति से लिया गया है. वहीदा रहमान  को यह सम्मान पिछले साल 13 अक्टूबर को खंडवा में किशोर कुमार (Kishore Kumar) की 32वीं पुण्यतिथि पर हुए कार्यक्रम में दिया जाना था, लेकिन स्वास्थ्य संबंधी कारणों से वह उस दिन इस कार्यक्रम में शामिल नहीं हो सकी थीं.

असली सुपरस्टार थे राजेश खन्ना…

 

-Mradul tripathi

Share.