website counter widget

लताजी की मौत की खबर?

0

भारत की स्वर कोकिला कही जाने वाली गायिका लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) 4 दिन से ब्रीच कैंडी अस्पताल में भर्ती थी और इस दौरान उनका निधन हो गया| सोशल मीडिया पर जब लोगों ने इस खबर को पढ़ा तो सभी दंग रह गए| कई लोग तो उनकी आत्मा की शांति के लिए दुआ भी करने लगे| सोशल मीडिया पर चल रही यह खबर एक दम फैक है| डॉक्टर्स के अनुसार उनके स्वस्थ में लगातार सुधार हो रहा है| उनके स्वस्थ को परिवार वालों का भी बयान सामने आया है|

परिवार वालों ने कहा, “कोई भी परिवार हड़बड़ी में अपने घरवालों की अस्पताल से बीमारी में घर नहीं ले जाता, क्योंकि बेहतर इलाज तो अस्पताल में ही होगा| हमारी कोशिश है कि लता जी ठीक होकर स्वस्थ होकर घर जाएं और मीडिया से गुज़ारिश है लता जी का सम्मान करें अफ़वाह ना फैलाए| वहीँ लता मंगेशकर की टीम ने भी ताज़ा स्टेटमेंट जारी किया है| उनकी टीम ने कहा कि लताजी की हालत स्‍थ‌िर बनी हुई है, बल्कि उनका स्वास्‍थ्य सुधर भी रहा है| सोशल मीडिया पर फ़ैल रही गलत खबर पर बॉलीवुड के कई सेलेब्रिटी ने भी लोगों से गुहार लगाईं है कि इस तरह की अफवाह ना फैलाएं|

मध्यप्रदेश के इंदौर में जन्मी लता मंगेशकर भारत की सबसे लोकप्रिय गायिका हैं| लताजी ने लगभग तीस से ज्यादा भाषाओं में फ़िल्मी और गैर-फ़िल्मी गाने गाए हैं| गायिकी के साथ-साथ उन्होंने फिल्मों में अभिनय भी किया है| अभिनेत्री के रूप में उनकी पहली फ़िल्म ‘पाहिली मंगलागौर’ थी, जो साल 1942 में रिलीज़ हुई थी| उन्होंने इस फिल्म में स्नेहप्रभा प्रधान की छोटी बहन की भूमिका निभाई थी| बाद में उन्होंने कई फ़िल्मों में अभिनय किया जिनमें, ‘माझे बाल’, ‘चिमुकला संसार’, ‘गजभाऊ’ , ‘बड़ी माँ’  ‘जीवन यात्रा’  ‘माँद’,  ‘छत्रपति शिवाजी’ शामिल हैं|

25 हज़ार से ज्यादा गाने गा चुकीं लता मंगेशकर को साल 1958, 1962, 1965, 1969, 1993 और 1994 में सर्वश्रेष्ठ गायिका के रूप में फिल्मफेयर अवार्ड दिया गया था| साल 1989 में उन्हें दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया गया था|

-Hriday Kumar

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.