X
website counter widget

election

इनकी वजह से संजू के जीवन में फैली अशांति

0

105 views

संजय दत्त के जीवन पर बनी फिल्म ‘संजू’ बॉक्स ऑफिस पर कमाई के नए रिकॉर्ड स्थापित कर रही है| संजय दत्त के जीवन में कई ऐसी बड़ी घटनाएं हुईं, जिनकी वजह से उनके जीवन पर फिल्म बनना लाज़िमी था| संजय के फैन्स से लेकर नेता-अभिनेता में भी उनके जीवन के बारे में जानने की जिज्ञासा थी| हाल ही में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने भी फिल्म ‘संजू’ को देखा और इस पर अपनी प्रतिक्रिया दी|

नितिन गडकरी ने फिल्म की जमकर तारीफ की है| एक कार्यक्रम के दौरान नितिन गडकरी ने कहा कि ‘संजू’ को एक सुंदर फिल्म के रूप में वर्णित किया| उन्होंने कहा कि मैंने फिल्म देखी है| यह एक सुंदर फिल्म है|

गडकरी ने कहा कि यह दिखाता है कि मीडिया, पुलिस और न्यायपालिका में कुछ धारणा किस प्रकार किसी पर प्रतिकूल प्रभाव डाल सकती है| इसने सुनील दत्त और उनके बेटे संजय दोनों के जीवन को गंभीर रूप से परेशान किया था|

उन्होंने आगे कहा कि  शिवसेना प्रमुख स्वर्गीय बालासाहेब ठाकरे ने मुझे एक बार कहा था कि संजय दत्त पूरी तरह से निर्दोष थे| मैं हमेशा कहता हूं कि मीडिया को किसी भी बैंक या किसी व्यक्ति के बारे में लिखते समय अतिरिक्त सावधान रहना चाहिए| जीवन को आकार देने में बहुत मेहनत और कठिनाई होती है, लेकिन इसे नष्ट करने में थोड़ा सा समय लगता है| कलम की शक्ति परमाणु बम की तुलना में अधिक विनाशकारी हो सकती है|

गौरतलब है कि अभिनेता संजय दत्त को वर्ष 1993 में एके-56 रायफल को अवैध तरीके से अपने घर पर रखने और आतंकवादी तथा विघटनकारी क्रियाकलाप अधिनियम (टाडा) के तहत गिरफ्तार किया था| उन्हें 18 महीने जेल की सजा काटी थी| जुलाई 2007 में उन्हें 6 वर्ष  सश्रम कारावास की सजा सुनाई गई थी| सुप्रीम कोर्ट ने 2013 के अपने एक निर्णय में उन्हें 5 साल की सश्रम कारावास की सज़ा सुनाई| अदालत ने उन पर से टाडा के तहत लगे आरोप हटा लिए थे और उन्हें आर्म्स एक्ट के तहत सजा सुनाई गई थी|

Share.
16