सुशांत सिंह: बॉलीवुड की सच्चाई उजागर की इन सेलिब्रिटी ने

0

बॉलिवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या और हत्या की पहेली के बिच अब इस मुद्दे को लेकर बॉलिवुड दो धडो में बंटता नजर आ रहा है. सुशांत ने अपने किसी फैन से मजाक में कहा था कि ‘अगर आप मेरी फिल्म देखने नहीं जाएंगी, तो ये मुझे बॉलिवुड से बाहर फेंक सकते हैं..मेरा कोई गॉड फादर नहीं है.. मैंने आप लोगों को ही अपना गॉड और फादर बनाया है.. प्लीज देखें अगर आप चाहती हैं कि मैं बॉलिवुड में सरवाइव करूं. इस पोस्ट के अपने कई मतलब है. ऐसी ही एक बहस अब बॉलिवुड, सोशल मीडिया और फिल्म इंडस्ट्री में चलने लगी है. नेपोटिजम और खेमेबाजी पर बहस में सोनम कपूर, यशराज फिल्म्स, करण जौहर और सलमान खान जैसे स्टार्स के नामों की चर्चा जोरो पर है. धमेंद्र, कंगना राणावत, शेखर कपूर, मीरा चोपड़ा, रजत बरमेचा, रणवीर शौरी, सपना भवानी और निखिल द्विवेदी जैसे स्टार्स अब सुशांत की आत्महत्या के बाद इंडस्ट्री में भेदभाव पर खुल कर बात कर रहे है.

कंगना बोली यह सुइसाइड नहीं प्लान्ड मर्डर था-
कंगना ने एक विडियो पर नेपोटिजम की बात कहते हुए कहा कि ‘गली बॉय’ जैसी वाहियात फिल्म को अवॉर्ड मिले, लेकिन ‘छिछोरे’ को क्यों नहीं? ‘सुशांत की मौत ने हम सबको झक-झोर कर रख दिया है.मगर कुछ लोग इस तरह से चला रहे हैं कि जिन लोगों का दिमाग कमजोर होता है, वे डिप्रेशन में आते हैं और सूइसाइड करते हैं. एक इंजीनियरिंग के इंट्रेंस एग्जाम रैंक होल्डर का दिमाग कमजोर कैसे हो सकता है? वह साफ कह रहे थे कि प्लीज मेरी फिल्में देखो, मेरा कोई गॉडफादर नहीं है, मुझे इंडस्ट्री से निकाल दिया जाएगा. क्या इस हादसे की कोई बुनियाद नहीं है. आप लिखते हैं वह साइकोटिक थे, न्यूरोटिक थे, अडिक्ट थे और बड़े स्टार्स की अडिक्शन तो बहुत क्यूट लगती है. तो यह सुइसाइड नहीं प्लान्ड मर्डर था. उन्होंने कहा तुम किसी काम के नहीं हो और वह मान गया और उन्होंने कहा तुम्हारा कुछ नहीं होगा, वह मान गया. दरअसल, वे चाहते ही हैं कि वे इतिहास लिखें कि सुशांत सिंह राजपूत कमजोर दिमाग का था. लेकिन वे यह नहीं बताएंगे सच्चाई क्या है.

जूनियर आर्टिस्ट भी खुल कर बोल रहे है-
कुछ खास सिलेब्रिटीज पर बिना नाम लिए जूनियर आर्टिस्ट भी खुल कर बोल रहे है . फिल्म ‘उड़ान’ से अपने करियर की शुरूआत करने वाले रजत बरमेचा ने एक विडियो पोस्ट करके इंडस्ट्रीवालों के मेंटल हेल्थ की बात करने को फैंसी ट्रेंड बताया है. ऐक्टर व प्रड्यूसर निखिल द्विवेदी ने लिखा है, ‘कोई आपत्ति नहीं है कि आप सिर्फ चढ़ते सूरज को सलाम करें. एक दूसरे के टच में रहने वाली बात न करें, क्या आप अभय देओल और इमरान खान के टच में हैं.. नहीं न.. अगर उनका करियर चमक रहा होता, तो शायद वे आपके सर्किल में होते

रणवीर शौरी लिखते हैं-
रणवीर शौरी लिखते हैं ‘उन्होंने जो कदम उठाया, वह उनका फैसला था। इसके लिए किसी को भी जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता. लेकिन इस बारे में उन लोगों को तो जरूर कुछ कहना चाहिए, जिन्होंने खुद को अपने आप हिंदी सिनेमा का चौकीदार नियुक्त कर लिया है. जो यह खेल खेल रहे हैं और उन्हें अपने डबल स्टैंडर्ड रवैये के बारे में भी बताना चाहिए.

शेखर कपूर का ट्विट ‘’ यहां कोई आपका दोस्त नहीं है’’-
डायरेक्टर शेखर कपूर ने ट्विटर पर लिखा, ‘मुझे मालूम है कि आप दर्द से गुजर रहे थे. मैं उन लोगों की कहानी जानता हूं जिनकी वजह से आप इतनी बुरी तरह टूटे कि मेरे कंधे पर सिर रखकर रोए.काश, पिछले 6 महीने में मैं आपके इर्द-गिर्द होता. काश, आप आप मुझ तक पहुंच पाते। जो आपके साथ हुआ, वह उन लोगों के कर्म हैं, आपके नहीं. जबकि सिलेब्रिटी हेयर स्टाइलिस्ट सपना ने लिखा, ‘इस बात में कोई शक नहीं है कि सुशांत पिछले कुछ सालों से परेशान थे. आज उसके बारे में पोस्ट करना दिखाता है कि इंडस्ट्री असल में कितनी दिखावटी है. यहां कोई आपका दोस्त नहीं है’’

Share.