आलोकनाथ को #Metoo ने दिया एक और दर्द

0

#Metoo अभियान ने भारत के माननीय और चर्चित नामों को इस तरह डंसा है कि इसका दर्द उन्हें ताउम्र सताएगा| यौन शोषण के आरोपों से घिरे आलोकनाथ को सिंटा (सिने एंड टीवी आर्टिस्ट एसोसिएशन) ने एसोसिएशन से बाहर कर दिया है| इन गंभीर आरोपों की वजह से ही सिंटा ने उन्हें बाहर निकालने का फैसला लिया है|

सिने और टीवी कलाकारों की कमेटी के सीनियर ज्वॉइंट सेक्रेटरी के अनुसार, “आलोकनाथ ने सिंटा की ओर से जारी नोटिस का अंतिम तारीख तक जवाब नहीं दिया था| अब उन्हें अगले वर्ष की 1 मई तक एजीएम के दौरान मौजूद रहने को कहा गया है| यदि वे नहीं आते हैं तो उन्हें स्थायी रूप से सस्पेंड कर दिया जाएगा|

गौरतलब है कि बॉलीवुड अभिनेत्री तनुश्री दत्ता ने फिल्म जगत के बड़े अभिनेता नाना पाटेकर पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था, जिसके बाद कई अभिनेत्रियों ने फिल्म जगत के कई बड़े नाम उजागर किए| टेलीविज़न अभिनेत्री संध्या मृदुल, विनता नंदा और हिमानी शिवपुरी ने आलोकनाथ के खिलाफ अपने बुरे अनुभव साझा किए थे|

विनता की फेसबुक पोस्ट के अनुसार, वे आलोकनाथ की पत्नी की सहेली थीं| इसी का फायदा उठाकर आलोकनाथ ने उनका शोषण किया| विनता ने लिखा था, उन्होंने मेरे साथ शारीरिक दुर्व्यवहार किया, जब मैं साल 1994 के मशहूर शो ‘तारा’ के लिए काम कर रही थी|”  संध्या मृदुल का कहना है कि एक शूटिंग के दौरान आलोकनाथ ने उनके साथ गलत हरकत की थी|

इस घटना के बाद से अब तक आलोकनाथ की तरफ से कोई बयान नहीं आया था| उनके वकील ने ज़रूर यह कहा था कि वह सदमे में हैं और कुछ दिन बाद ही इस बारे में कोई बात करेंगे| नाना पाटेकर और आलोकनाथ के अलावा फिल्म निर्माता विकास बहल, गायक कैलाश खेर, अभिजीत भट्टाचार्य, पापोन, निर्देशक सुभाष घई जैसे कई बड़े नामों पर यौन शोषण के गंभीर आरोप लगे|

Share.