X
Sunday, May 20, 2018

*कर्नाटक: युदियुरप्पा ने दिया इस्तीफा *सदन में बहुमत साबित नहीं कर पाए येदियुरप्पा *जनता के बीच में जाकर करूंगा काम *येदियुरप्पा ने माना जनता का आभार

घरेलू खपत बढ़ाना आवश्यक : एबीडी

0

53 views

हमारी अर्थव्यवस्था की आर्थिक वृद्धि दर 8 प्रतिशत नहीं होने पर आर्थिक जगत में निराशा है परंतु एशियाई विकास बैंक की हाल ही में जारी रिपोर्ट में कुछ और कहा गया है | एबीडी के मुख्य अर्थशास्त्री यायुसिकी सवादा ने कहा कि भारत को अपनी आर्थिक वृद्धि दर 8 प्रतिशत न होने की चिंता करने के बजाय इस बात पर विचार करना चाहिए कि हम घरेलू खपत कैसे बढ़ाएं क्योंकि भारतीय अर्थव्यवस्था पर निवेश से ज्यादा घरेलू खपत प्रभावी है | सवादा ने कहा कि हमें आय की विषमता को दूर करना चाहिए तथा आम आदमी के जीवन स्तर में सुधार लाना चाहिए क्योंकि लोगों की आय बढ़ेगी तो हमारी घरेलू खपत बढ़ेगी| इसी के साथ रोजगार में भी वृद्धि होगी |

आर्थिक वृद्धि दर पर सवादा ने कहा कि चालू वर्ष में 7% से अधिक की वृद्धि भी निश्चित रूप से एक बड़ी उपलब्धि है| यदि यह गति बनी रही तो दस वर्षों में हमारी अर्थव्यवस्था का आकार 2500 अरब डॉलर से 5000 अरब डॉलर हो सकता है | गौरतलब है कि वर्तमान में भारतीय अर्थव्यवस्था दुनिया की छठी बड़ी अर्थव्यवस्था है|

2016-17 में आर्थिक वृद्धि दर 7.1 प्रतिशत थी | वहीं 2017-18 में 6.6 %, 2018-19 में 7.3% तथा 2019-20 में 7.6% का लक्ष्य निर्धारित किया गया है | आगामी समय में 8 % की वृद्धि दर भारत के लिए बड़ी चुनोती है | परन्तु 7% की वृद्धि भी अर्थव्यवस्था के लिए अच्छे संकेत है |

Share.
19