X

मुंबई के आर्थर रोड सेंट्रल जेल में रखने की मांग

0

91 views

पिछले 25 वर्षों से फरार 1993 के मुंबई सीरियल ब्लास्ट का गुनहगार और भारत का मोस्ट वान्टेड अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम समर्पण करना चाहता है। भारत में डॉन के वकील श्याम केसरवानी ने यह सनसनीखेज खुलासा किया है। वकील का कहना है कि दाऊद की शर्त है कि उसे भारत में सबसे सुरक्षित जेलों में से एक मुंबई के आर्थर रोड सेंट्रल जेल में ही रखा जाए। आर्थर रोड जेल वही जेल है, जहां मुंबई में आतंकवादी हमले के आरोपी अजमल कसाब को फांसी देने से पहले रखा गया था।

केसरवानी ने कहा कि दाऊद ने कुछ साल पहले भी भारत आने की इच्छा जताई थी, तब उसने देश के जाने-माने वकील राम जेठमलानी से बात की थी, लेकिन तब के नेताओं ने इस पर कोई एक्शन नहीं लिया। गौरतलब है कि दाऊद इब्राहिम भारत का मोस्ट वांटेड है और उस पर मुंबई सीरियल ब्लास्ट सहित कई संगीन आरोप हैं। दाऊद ने पाकिस्तान में पनाह ले रखी है। 2003 में अमेरिका ने उसे ग्लोबल टेररिस्ट माना। इंटरपोल को भी उसकी तलाश है।

 केसरवानी दाऊद के भाई इकबाल इब्राहिम पर चल रहे उगाही के मामले में भी वकील हैं। मंगलवार को इसी की सुनवाई के लिए केसरवानी ठाणे कोर्ट पहुंचे थे। यहीं उन्होंने दाऊद की आत्मसमर्पण की इच्छा के बारे में बताया| सरकारी वकील उज्जवल निकम इसे दाऊद का पुराना पैंतरा बता रहे हैं। उनके मुताबिक ‘बेगर्स आर नॉट चूजर्स।‘ भारत सरकार ने साफ कर दिया है कि उसे एक आतंकवादी की कोई शर्त मंजूर नहीं है। ऐसे में सवाल यह है कि आखिर दाऊद को कब भारत लाया जाएगा। आखिर कब अंडरवर्ल्ड के इस डॉन को उसके गुनाहों की सजा मिलेगी ।

Share.
31