X

देश की पहली मुस्लिम महिला डाकिया

0

212 views

कई बार जिंदगी में ऐसा कुछ हो जाता है, जिससे हमें कुछ नया सबक, नई राह मिल जाती है| यदि मुश्किलों से भरे रास्ते में भी हिम्मत से काम लिया जाता है तो बड़ी से बड़ी तकलीफ भी आसान हो जाती है| ऐसी एक मिसाल पेश कर जमीला नाम की महिला देश की पहली मुस्लिम महिला डाकिया बन गई है|

हैदराबाद के महबूबाबाद जिले के गरला मंडल की रहने वाली जमीला पति की मौत के बाद टूट सी गई थी, लेकिन किस्मत पलटी और उन्हें पति की जगह नौकरी मिल गई और वे बन गईं पहली महिला मुस्लिम पोस्टमैन| जमीला के पति डाकिया थे इसलिए उन्हें अनुकंपा नियुक्ति मिली| उसने पति के काम को अपनाते हुए बच्चों को पढ़ाया| पैसों की कमी के कारण नौकरी के साथ साड़ियां बेचने का काम भी किया|

जमीला पहले पैदल जाकर चिठ्ठियां बांटती थी, लेकिन उसने साइकिल चलाना सीखा| आज वह अपनी बड़ी बेटी को इंजीनियरिंग और छोटी बेटी को डिप्लोमा कोर्स करवा रही है|

Share.
1