स्कॉलरशिप से पूरी होगी विद्यार्थियों की स्कूली शिक्षा

0

राज्य सरकार या सरकारी सहायता प्राप्त व स्थानीय निकाय के  स्कूल से नौवीं कक्षा की शिक्षा प्राप्त कर रहे मेधावी विद्यार्थी, जिनकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है, उन्हें सरकार द्वारा आगे पढ़ने का मौका दिया जा रहा है| ऐसे विद्यार्थी, जो अपनी शिक्षा को जारी रखने में असमर्थता महसूस कर रहे हों, ऐसे विद्यार्थी ‘मानव संसाधन विकास मंत्रालय’ के ‘स्कूल शिक्षा और साक्षरता विभाग’ द्वारा प्रदान की जा रही आर्थिक सहायता का लाभ उठा सकते हैं| इसके लिए इच्छुक विद्यार्थी ‘नेशनल मीन्स कम मैरिट स्कॉलरशिप 2018-19’  के लिए आवेदन कर आर्थिक सहायता प्राप्त कर सकते हैं| इस स्कॉलरशिप से पूरे भारत में एक लाख विद्यार्थियों को लाभ दिया जाएगा| इसके लिए नवोदय विद्यालय, केन्द्रीय विद्यालय, सैनिक स्कूल और प्राइवेट स्कूल के विद्यार्थी योग्य नहीं हैं|

योग्यता 

ऐसे विद्यार्थी, जो राज्य सरकार या सरकारी सहायता प्राप्त व स्थानीय निकाय के स्कूलों से कक्षा 10वीं से 12वीं की शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं|

विद्यार्थी ने सातवीं व आठवीं कक्षा में न्यूनतम 55 प्रतिशत अंक प्राप्त किए हों (एससी/एसटी के विद्यार्थियों को 5 प्रतिशत की छूट रहेगी)

पारिवारिक वार्षिक आय 1.50 लाख से अधिक न हो|

लाभ – इस स्कॉलरशिप के लिए चयनित विद्यार्थी को 6000 रुपए तक की स्कॉलरशिप प्रतिवर्ष दी जाएगी|

अंतिम तिथि – 15 दिसम्बर, 2018 तक आवेदन कर सकते हैं|

ऐसे करें आवेदन 

इस स्कॉलरशिप के लिए इच्छुक विद्यार्थी ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं| आवेदन के लिए लिंक का उपयोग करने पर गवर्नमेंट का नेशनल स्कॉलरशिप पोर्टल खुलेगा, जिसमें आपको सेंट्रल स्कीम के नीचे छठे नंबर पर लिखे डिपार्टमेंट ऑफ़ स्कूल एजुकेशन एंड लिट्रेसी पर क्लिक करना होगा, जहां पर उल्लेखित स्कॉलरशिप का नाम व उसके सामने अप्लाई बटन पर क्लिक करके आवेदन किया जा सकता है|

अधिक जानकारी के लिए इन लिंक पर क्लिक करें – http://www.b4s.in/TI/NMC5

साभार – www.buddy4study.com

स्कॉलरशिप से पूरी होगी विद्यार्थियों की स्कूली शिक्षा

मेडिकल के क्षेत्र में स्कॉलरशिप से बनाएं भविष्य

इंजीनियर और डॉक्टर बनने के लिए मिलेगी स्कॉलरशिप

 

Share.