मेधावी विद्यार्थियों को कॉलेज बोर्ड दे रहा है छात्रवृत्ति

0

मेधावी और आर्थिक रूप से कमजोर कक्षा 12वीं के विद्यार्थियों को भारत की जानी-मानी यूनिवर्सिटी से छात्रवृत्ति(Scholarship For Meritorious Student) दी जा रही है| दरअसल, शैक्षिक सत्र 2019-20 में ग्रेजुएशन डिग्री प्रोग्राम करने के लिए कॉलेज बोर्ड छात्रवृत्ति दे रहा है| भारत के 10 बेहतरीन कॉलेज व यूनिवर्सिटीज़ जैसे अहमदाबाद यूनिवर्सिटी, अशोका यूनिवर्सिटी, अजीम प्रेमजी यूनिवर्सिटी, बैनेट यूनिवर्सिटी, बीएमएल मुंजाल यूनिवर्सिटी, फ्लेम यूनिवर्सिटी, मानव रचना यूनिवर्सिटी, मनिपाल यूनिवर्सिटी, एसआरएम इंस्टिट्यूट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी, एसवीकेएमएस और एनएमआईएमएस द्वारा ग्रेजुएशन डिग्री पूरी करने के लिए छात्रवृत्ति दी जा रही है|

भारत में रहने वाले विद्यार्थी, जो किसी भी अन्य देश के मूल नागरिक हों, वे भी ‘कॉलेज बोर्ड इंडिया स्कॉलर्स प्रोग्राम’ में भाग ले सकते हैं| इस छात्रवृत्ति को पाने के लिए आपको तय मानदंडों को पूरा करना होगा| उम्मीदवारों की पारिवारिक आय 0-4 लाख रुपए प्रतिवर्ष से कम होनी चाहिए| इस स्कॉलर प्रोग्राम में भाग लेने के लिए विद्यार्थियों को दिसंबर 2018, एसएटी (SAT) परीक्षा में अच्छा प्रदर्शन करना चाहिए|

मान्यता

विद्यार्थी, जो शैक्षिक सत्र 2018-19 में 12वीं की शिक्षा (रैगुलर या डिसटेंस) प्राप्त कर रहे हों तथा उनकी पारिवारिक वार्षिक आय 6 लाख रूपए से कम हो, उन सभी विद्यार्थियों को सैट परीक्षा की 7000 रुपए की फीस अदा नहीं करनी होगी अर्थात वे इस परीक्षा में निशुल्क भाग ले सकते हैं|

फुल कॉलेज ट्यूशन स्कॉलरशिप के लिए

शैक्षिक सत्र 2018-19 में 12वीं की शिक्षा प्राप्त कर रहे विद्यार्थी जिन्होंने SAT परीक्षा में 1600 में से न्यूनतम 1350 अंक किए हों, वे विद्यार्थी कॉलेज बोर्ड की यूनिवर्सिटी से ग्रैजुएशन डिग्री पूरी करने के लिए स्कॉलरशिप लेने के लिए पात्र होंगे|

इस स्कॉलरशिप के लिए विद्यार्थियों को निम्नलिखित दस्तावेजों की आवश्यकता होगी 

पासपोर्ट साइज़ फोटोग्राफ

भारत में रहने का वैध प्रमाण-पत्र (एड्रेस प्रूफ)

पहचान-पत्र

आय प्रमाण-पत्र

ग्यारहवीं की अंकसूची

अंतिम तिथि –  उम्मीदवार 8 फरवरी, 2019 तक आवेदन किया जा सकता है|

ऑनलाइन आवेदन हेतु महत्वपूर्ण लिंक

http://www.b4s.in/TI/CBI1

-साभार

http://www.b4s.in/TI/CBI1

बेहतरीन यूनिवर्सिटीज़ में पढ़ने का मौका, जानिए छात्रवृत्ति योजना

दिव्यांग विद्यार्थियों के सशक्तिकरण के लिए सरकारी छात्रवृत्ति

स्कूल में 60 प्रतिशत से अधिक लाने वाली छात्राओं को छात्रवृत्ति

Share.