रेडियोलॉजी में बनाएं करियर

0

मेडिकल का दायरा सिर्फ डॉक्टर और नर्स तक सीमित नहीं है। अब रेडियोलॉजी टेक्नीशियन के क्षेत्र में भी काफी संभावना है। वर्तमान समय में यह क्षेत्र काफी तेजी से उभर रहा है। भारत ही नहीं, विदेशों में भी हेल्थ सेक्टर में विशेषज्ञ तथा ट्रेंड रेडियोलॉजिस्ट की काफी आवश्यकता पड़ी है।

कैसे करता है काम

रेडियोलॉजिस्ट शरीर के विभिन्न अंगों का एक्स-रे करते हैं। एक्स-रे करते वक्त मरीज और आसपास के लोगों पर रेडियोएक्टिव किरणों का बुरा असर न हो, इस बात पर भी निगरानी रखते हैं। इसके अलावा रेडियोग्राफिक उपकरणों की देखभाल और रोगियों के रिकॉर्ड्स भी मेंटेन करते हैं।

कोर्स

रेडियोलॉजी टेक्नीशियन बनने के लिए कई तरह के कोर्स उपलब्ध हैं, जैसे बीएससी इन रेडियोलॉजी, सर्टिफिकेट इन रेडियोग्राफी, डिप्लोमा इन एक्स-रे टेक्नीशियन, पीजी डिप्लोमा रेडियोथेरेपी आदि।

कहां है अवसर

यह करियर विकल्प के तौर पर लड़कों और लड़कियों के लिए अच्छा है। कोर्स के दौरान छात्रों को शरीर रचना विज्ञान, शरीर विज्ञान, भौतिक, रेडियोग्राफिक के बारे में जानकारी दी जाती है। रेडियोलॉजिस्ट बनने के बाद नर्सिंग होम्स, अस्पताल या डाइग्नॉस्टिक सेंटर पर काम कर सकते हैं।

प्रमुख संस्थान

– ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज, नई दिल्ली

– पैरामेडिकल एंड मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट, नई दिल्ली

– टाटा मेमोरियल हॉस्पिटल, मुंबई

– क्रिश्चियन मेडिकल स्कूल, वैल्लूर, तमिलनाडु

Share.