नए साल से जुड़ी ये रोचक खबर आपको जरूर पढ़नी चाहिए

0

कुछ ही घंटों में बाद नया साल 2020 (Celebration Of New Year) आने को है और सभी लोग इस दिन का बेसब्री से इंतज़ार कर रहे है नए साल से एक दिन पहले 31 दिसंबर को लोग खूब धूमधाम से बीते हुए साल को अलविदा कहते है और नए साल के स्वागत में जश्न मानते है पार्टियां करते है। बहुत से लोग इस दिन बुरी आदतों को छोड़ने का संकल्प लेते है। और अच्छी आदत को शुरू करने का प्रण लेते है। ऐसा माना जाता है कि नया साल आज से लगभग 4,000 वर्ष पहले बेबीलोन में मनाया गया था। 1 जनवरी को नया वर्ष ग्रेगोरियन कैलेंडर के आधार पर मनाया जाता है। लेकिन इसकी शुरुआत रोमन कैलेंडर से हुई है। आपको बता दें की रोमन कैलेंडर का नया वर्ष 1 मार्च से शुरू होता है, लेकिन रोमन के प्रसिद्ध सम्राट जूलियस सीजर ने 46 वर्ष ईसा पूर्व में इस कैलेंडर में परिवर्तन किया था। इसमें उन्होंने जुलाई का महीना और इसके बाद अपने भतीजे के नाम पर अगस्त का महीना जोड़ दिया। दुनियाभर में तब से लेकर आज तक नया साल 1 जनवरी को मनाया जाता है।

Happy New Year 2020: इन मैसेज और शायरी से अपनों का साल बनाएं खास

अब (Celebration Of New Year) जैसे की आप सभी जानते है की दुनियाभर में अलग-अलग संस्कृति और धर्मों के लोग रहते है इसलिए नए साल में उनके जश्न का तारीख भी अलग अलग होता है। तो चलिए आज हम आपको बताते है की भारत में नया साल कैसे मनाते है. जैसा की आप सभी जानते है भारत एक धर्मनिरपेक्ष राज्य है यहाँ हर धर्म संप्रदाय के लोग रहते है। तो यहाँ नया साल भी अलग अलग तारीखों में मनाया जाता है और अलग अलग तरीकों से मनाया जाता है भारत में एक बार नहीं पांच बार मनाया जाता है. जी हां भारत में नया साल विभिन्न स्थानों पर अलग-अलग तिथियों पर मनाया जाता है। ज्यादातर ये तिथियां मार्च और अप्रैल के महीने में पड़ती हैं। पंजाब में नया साल बैशाखी (Vaisakhi in Punjab) के रूप में 13 अप्रैल को मनाया जाता है। सिख धर्म को मानने वाले इसे नानकशाही कैलेंडर के अनुसार मार्च में होली के दूसरे दिन मनाते हैं। जैन धर्म के लोग नववर्ष को दिवाली के अगले दिन मनाते हैं। यह भगवान महावीर स्वामी की मोक्ष प्राप्ति के अगले दिन से शुरू होता है।

Aaj ka rashifal : वृषभ के लिए नई शुरुआत शुभ अवसर लेकर आएगी

हिन्दू धर्म में नववर्ष (Celebration Of New Year) का आरंभ चैत्र मास (Chaitra month) की शुक्ल प्रतिपदा से माना जाता है। हिन्दू धार्मिक मान्यता के अनुसार भगवान ब्रह्मा ने इसी दिन सृष्टि की रचना प्रारंभ की थी इसलिए इस दिन से नए साल का आरंभ भी होता है। इस्लामी कैलेंडर के अनुसार मोहर्रम (Moharram) महीने की पहली तारीख को नया साल हिजरी शुरू होता है। इसके अलावा हमारा देश सभी धर्मों का आदर करने वाला है इसलिए अंग्रेजी कैलेण्डर के अनुसार जनवरी महीने की पहली तारीख को भी पूरा देश इसे खूब जश्न से मनाता है। भारत में भी नये साल की शुरुआत पूरी धूमधाम के साथ होती है| यहाँ पर युवा नये साल की जोरदार पार्टियाँ आयोजित करते हैं जिनमे शराब से लेकर केक की भी पूरी व्यवस्था होती है| भारत में कुछ लोग नए साल के संकल्प के रूप में कुछ बुरी आदतों जैसे शराब ना पीना, सिगरेट ना पीना, अनैतिक कार्य न करने के अलावा अपने स्वास्थ्य पर ध्यान देना इत्यादि की शपथ भी लेते हैं|

De De Pyaar De Leak : बुरी खबर अजय की नई फिल्म लीक

-Mradul tripathi

Share.