Physics GK In Hindi : भौतिकी से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्न

0

Physics GK In Hindi :

# टेनिस की गेंद मैदान की अपेक्षा किसी पहाडी पर अधिक ऊची लछलती है क्योकि पर्वतो पर पृथ्वी का गुरूत्वीय त्वरण कम हो जाता हैं।

# नदी से निकलकर समुद्र में प्रवेश करते ही जहाज कुछ ऊपर उठ जाता है क्योकि समुद्र के जल का घनत्व अधिक होता हैं।

# यदि पृथ्वी का गुरूत्वीय बल अचानक लुप्त हो जाए , तो वस्तु का भार शून्य हो जायेगा तथा द्रव्यमान वही रहेगा।

GK IN HINDI : आधुनिक भारत का इतिहास

# पृथ्वी के चारो ओर एक विशेष वृत्तीय कक्षा में विभिन्न द्रव्यमान के दो कृत्रिम उपग्रह नियत चाल से घूम सकते है।

# सरल लोलक का आवर्तकाल दो गुना हो जाएगा, यदि इसकी लम्बाई चार गुना कर दी जाए।

# एक पिण्ड विराम अवस्था में अचानक समान द्रव्यमान के दो खण्डो में विभक्त हो जाता है।जो गतिशील हो जाते है दोना खण्ड एक दूसरे को विपरीत दिशा में समान वेग से गति करेगें।

# दोलन करते सरल लोलक की स्थितिज ऊर्जा किनारो की स्थितियों पर अधिकतम होती है।

भारतीय अर्थव्यवस्था से संबंधित सामान्य ज्ञान

# जब घोडा तागें की खीचता है , तो टांगा पृथ्वी पर घोडे के पैरो द्वारा लगाए गए प्रतिक्रिया बल के कारण आगे बढता है यह न्यूटन के तृतीय नियम पर आधारित है।

# आर्यभटट् ने न्यूटन से पूर्व ही बता दिया था कि सभी वस्तुएं पृथ्वी की ओर गुरूत्वाकर्षित होती हैं।

# जेट इन्जन रेखिक संवेग संरक्षण के सिद्वान्त पर कार्य करता है।

# चन्द्रमा की सतह से पलायन वेग का मान पृथ्वी की सतह की अपेक्षा कम होता है क्योकि चन्द्रमा की त्रिज्या पृथ्वी की त्रिज्या से कम है।

# साईकिल चालक को प्रारम्भ में अधिक बल लगाना पडता है क्योकि चालक जडत्व पर विजय पाने के लिए अधिक बल लगाता है।

# पर्वतारोही पर्वतारोहण के समय आगे की ओर झुक जाता है क्योकि उसके गुरूत्व केन्द्र से होकर गुजरने वाली उर्घ्व रेखा उसके आगे झुकने में सन्तुलन की स्थिति में आ जाती हैं।

सामान्य ज्ञान के महत्वपूर्ण सवाल

# साइकिल चालक मोड पर साइकिल मोडते समय अन्तर की ओर झुकता है क्योकि उसे उपयुक्त अभिकेन्द्रीय बल मिल जाता है।

# एक समान वृत्तीय गति में त्वरण एंव वेग दोने ही परिवर्ती होते है।

# डबल डेकर बस में ऊपरी डिब्बे में यात्रियो के खडे रहने की अनुमति नहीं दी जाती क्योकि बस का गुरूत्व केन्द्र ऊचा न हो जाए जिससे बस लुढकने की सम्भावना रहती है।

# प्रायः तेज ऑधी आने पर फूस की या टीन की हल्की छते उड जाती है क्योकि छत के ऊपर बहने वाली उच्च वेग की वायु छत की सतह पर दाव उत्पन्न कर देती है तथा छत के नीचे दाब सामान्य रहता है।

# उडते हवाई जहाज में फाउण्टेन पेन की स्याही बाहर बहने लगती है क्योकि कम वायुमण्डल दाब के कारण पेन में स्थित वायु फेलने लगती है।
द्रव में अधिक त्रिज्या वाली केशनली में द्रव कम चढता है।

# सामान्य वायुमण्डलीय दाब 760 मिलीमीटर पारा स्तम्भ होता हैं।

# प्रेट्रोल में लगी आग को हम पानी से नही बुझा सकते क्योकि पानी भारी होने की वजह से नीचे चला जाता है और पेंट्रोल ऊपरी सतह पर आकर जलता रहता हैं।

# ग्रहों की गति के नियम कैपलर ने प्रतिपादित किए थे।

# घडी में चाबी देने का उद्देश्य उसमें ऊर्जा का भण्डारण करना होता हैं यह ऊर्जा स्थितिज ऊर्जा कहलाती है।

# एक वस्तु का भार निर्वात में अधिकतम होगा।

# स्याही का सोखना , भूमिगत जल का ऊपर चढना , सूती कपडे पर जल की बूॅद का फेलना केशिकत्व के उदाहरण है।

# जल की सतह पर सुई तैरती है , इसका कारण पृष्ठ तनाव है।

# गैस के अणुओ की गतिज ऊर्जा 0 कैल्विन ताप पर शून्य होती है।

Share.