एजुकेशन लोन न पड़े महंगा

0

दिन-प्रतिदिन महंगी होती जा रही शिक्षा की वजह से स्टूडेंट्स को एजुकेशन लोन लेने के लिए मजबूर हो रहे हैं। चूंकि आजकल नौकरी पाना भी बहुत मुश्किल हो गया है, इसलिए एजुकेशन लोन को न चुका पाने वालों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। ऐसे में डिफॉल्टर्स की बढ़ती संख्या अच्छी बात नहीं है क्योंकि ऐसे स्टूडेंट्स को भविष्य में कोई भी लोन में दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।  यदि आप एजुकेशन लोन के बोझ तले नहीं दबना चाहते हैं तो आप इन तरीकों को अपना सकते हैं|

कोर्स चुनें सावधानी से

जब भी आप विदेश में पढ़ाई के लिए जाना चाहें तो अपने लिए कोर्स, कॉलेज, देश आदि बहुत ही सावधानी के साथ चुनें। अंतिम फैसला करने से पहले विभिन्न देशों, उनके कॉलेजों और कोर्सेज के बारे में अच्छे से जांच-पड़ताल कर ले। जिसमें अपना करियर बनाना चाहते हैं उसी आधार पर अपने लिए कॉलेज और कोर्स चुनना चाहिए।

स्कॉलरशिप पर ज़ोर

विदेश में पढ़ाई या किसी महंगे इंस्टीट्यूट में कोई कोर्स करना चाहते है तो सबसे पहले फैमिली सेविंग्स और स्कॉलरशिप को अपना रिसोर्स बनाएं। अभिभावक भी अपनी लोन चुकाने की काबिलियत को देख लें क्योंकि अगर बच्चा लोन नहीं चुका पाता तो वह उन्हें चुकाना होगा।

स्ट्रेटेजी बनाएं

जब आपका बच्चा पढ़ाई कर रहा है, तभी से आप लोन का ब्याज चुकाना शुरू कर दें। साथ ही अपने बच्चों को पढ़ाई के दौरान होने वाली पूरी फाइनेंशियल प्लानिंग का भी हिस्सा बनाएं ताकि वह पढ़ाई के दौरान और उसके बाद भी पार्ट टाइम काम के जरिये कमाने के अवसर ढूंढ सकें और लोन चुका सकें।

Share.