ब्लड बैंक टेक्नीशियन बनकर संवारे करियर

0

ब्लड बैंक टेक्नोलॉजी मेडिकल और क्लिनिकल लैब टेक्नोलॉजी की फील्ड में व्यापाक श्रेणी में आता है। ब्लड बैंक टेक्नीशियन फ्लेबोटोमिस्ट के रूप में प्रशिक्षित किए जाते हैं। वे बल्ड को इकट्ठा करने और लेबलिंग करने का काम करते हैं।  वे मेडिकल प्रयोगशालाओं और ब्लड बैंक्स में काम करते हैं। जहां यह संचरण के लिए डोनर से रक्त इकट्ठा करके स्टोर करते हैं। बल्ड का टाइप और कलेक्ट किया ब्लड सुरक्षित है या नहीं और बल्ड में स्वस्थ अणुओं के स्तर का परीक्षण करते हैं।

अवसर – ब्लड बैंक टेक्नीशियन

यूं तो इस ब्लड बैंक टेक्नीशियन कोर्स में डिप्लोमा लेने के बाद हर राज्य में सरकारी व गैर सरकारी विभाग में नौकरी के कई नए अवसर खुल जाएंगे। इसके अलावा अभ्यर्थी प्राइवेट हॉस्पिटल्स या प्राइवेट लैब में भी काम करके खासा पैसा कमा सकते हैं। वर्तमान समय की अगर बात की जाए तो मेडिकल लैब की मार्केट में भरमार है और बड़ी-बड़ी कंपनियां हर शहर में अपनी लैब खोल रही है, जिसमें ब्लड बैंक डिपार्टमेंट में खासा डिमांड है।

कोर्स एवं योग्यता

डिप्लोमा और सर्टिफिकेट कोर्स इन ब्लड बैंक टेक्नोलॉजी के लिए किसी भी संकाय व मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं पास होना अनिवार्य है। कोर्स के दौरान प्रैक्टिकल ट्रेनिंग में खासा ध्यान रखा जाता हैं, जिसमें उन्हें ब्लड सैंपल्स की जांचें करना सिखाई जाती है और इसके अलावा ब्लड की हर एक जरूरी तत्व को समझाया जाता है। आपातकालीन स्थिति या किसी भी तरह की आपदा की स्थिति में किस तरह से निपटा जाए, यह ब्लड बैंक टेक्नीशियन कोर्स के दौरान सिखाया जाता है।

प्रमुख संस्थान

महर्षि मर्केडेश्वर यूनिवर्सिटी, हरियाणा, www.mmumullana.org

शिवालिक इंस्टीट्यूट ऑफ पैरामेडिकल टेक्नोलॉजी, चंडीगढ़, www.shivalinstitute.org

इंडियन मेडिकल इंस्टीट्यूट ऑफ नर्सिग, जालंधर, www.iminursing.in

Share.