बिजनेस बैंकिंग में संवारे करियर

0

करियर के लिहाज से बिजनेस बैंकिंग हमेशा से एक सुरक्षित फील्ड रहा है। इस क्षेत्र में निरंतर प्रगति और सुधार हो रहा है। आज एक बड़ी आबादी के पास अपने बैंक खाते हैं, हाथों में डेबिट-क्रेडिट कार्ड हैं। ई-बैंकिंग और मोबाइल बैंकिंग जैसी सुविधाएं हैं, जिन्होंने बैंकिंग के भविष्य को और ज्यादा शानदार बना दिया है।

कोर्स

ग्लोबल पीजी डिप्लोमा इन बैंकिंग एंड फाइनेंस एक वर्ष का कोर्स है। इसमें बैंकिंग ऑपरेशंस, ट्रेड फाइनेंस, फोरेक्स, फाइनेंस एसएमई जैसे विषय पढ़ाए जाते हैं। इस कोर्स में व्यापार संचार और शेयर बाजार के काम का प्रशिक्षण दिया जाता है।

बिजनेस बैंकिंग के सेक्टर्स

कॉर्पेोरेट बैकिंग ऑफिसर

कॉर्पेोरेट बैंकिंग ऑफिसर व्यापार व बड़ी कंपनियों के ग्राहकों के लिए नियमित रूप से बैंकिंग परिचालन में विशेष रूप से डिजाइन के उत्पाद उपलब्ध करवाने का काम करता है। यह सैलरी व करंट अकाउंट वाले ग्राहकों से भी अच्छे संबंध बनाए रखने के लिए भी जिम्मेदारी होती है।

क्रेडिट ऑफिसर

यह बैंक के कॉर्पेोरेट और एसएमई ग्राहकों की लोन की जरूरतों का मूल्यांकन करने का प्रभारी होता है। इसका काम बैलेंस शीट का मू्ल्यांकन, व्यापार का विश्लेषण करना और लोन की मंजूरी से पहले डायरेक्टर का इंटरव्यू करना होता है।

कैश मैनेजमेंट ऑफिसर

यह संभावित कॉर्पोरेट ग्राहकों के लिए नकदी प्रबंधन सेवाएं प्रदान करने का काम करता है। ग्राहकों की जरूरतों का आकलन, लाभ व जोखिम विश्लेषण करता है।

बिजनेस बैंकिंग प्रमुख संस्थान

इंदिया गांधी ओपन यूनिवर्सिटी, www.ignou.ac.nic

टीकेडब्लूसएस इंस्टीट्यूट ऑफ बैकिंग एंड फाइनेंस, www.tkws

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी, www.amu.ac.in

यह खबर भी पढ़े – बैगपाइप बजाकर संवारे अपना करियर

यह खबर भी पढ़े – क्रेडिट एनालिस्ट बनकर संवारें करियर

यह खबर भी पढ़े – जब करना हो अपनी परफॉर्मेंस में सुधार

Share.