50 से 10 हज़ार करोड़ रुपए तक का सफ़र

0

यदि कुछ कर गुज़रने की इच्छा हो तो कोई सपना ऐसा नहीं होगा, जिसे पूरा नहीं किया जा सके|  मेहनत और लगन से कुछ भी असंभव नहीं है| यदि इंसान दृढ निश्चय के साथ किसी काम में लग जाए तो उसका सफल होना तय है| कुछ ऐसी  ही कहानी शोभा लिमिटेड के चेयरमैन पीएनसी मेनन की है| फोर्ब्स मैगजीन ने अरब में रहने वाले अमीर भारतीयों की लिस्ट में उनका नाम शामिल किया है| उनके पास कुल संपत्ति 144 करोड़ डॉलर यानी करीब 10 हजार करोड़ रुपए है|

देश की बड़ी रियल्टी कंपनी शोभा लिमिटेड के फाउंडर और चेयरमैन पीएनसी मेनन का जन्म  केरल के पालघाट में हुआ| उनके पिता किसान थे और पिता की मौत के बाद जब वे घर से निकले तो उनकी जेब में सिर्फ 50 रुपए थे| तंगहाली के कारण पढ़ाई भी बीच में छूट चुकी थी| मेनन जब दस साल के थे, तभी उनके पिता की मौत हो गई| इसके बाद उनके परिवार को संभालने वाला कोई नहीं था क्योंकि मेनन के दादाजी अनपढ़ थे| उनकी मां भी ज्यादातर बीमार रहा करती थीं|  यही वजह है कि वे बड़ी मुश्किल से स्कूली शिक्षा पा सके थे| हालांकि उन्होंने प्रारंभिक शिक्षा के बाद आगे पढ़ने की काफी कोशिश की, लेकिन सफल नहीं हो सके| फोर्ब्स मैगजीन को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि उन्होंने दो बार बी.कॉम की पढ़ाई पूरी करने की कोशिश की, लेकिन सफल नहीं हो सके| हालांकि बाद में उन्होंने अपने काम से ही पहचान बनाई |

मेनन  ने सबसे पहले प्रोजेक्ट में ब्रुनेई के सुल्तान के घर को डिजाइन किया था| इन्फोसिस कैंपस के लिए भी मेनन कंसल्टेंट रह चुके हैं| इसके अलावा यूएई में कई बड़ी इमारतों का डिजाइन भी मेनन ने ही किया है| हालांकि दिलचस्प बात यह है कि उनके पास इंटीरियर डिजाइनर जैसी कोई डिग्री नहीं है| शुरुआती परेशानी के बाद धीरे-धीरे उन्होंने ओमान सहित सभी अरब देशों में अपना बिजनेस फैलाना शुरू किया| ओमान के अलावा मेनन ने भारत में भी बिजनेस की शुरुआत की थी| यहां उन्होंने शोभा लिमिटेड नाम की कंपनी खोली| भारत में यह कंपनी 12 राज्यों में चल रही है और उनकी कुल नेटवर्थ 10 हजार करोड़ रुपए है|

Share.