थर्ड पार्टी इंश्योरेंस अनिवार्य, वाहन होंगे महंगे

0

यदि आप भी कार या बाइक खरीदना चाहते हैं तो एक सितंबर के पहले ही खरीद लें क्योंकि इसके बाद ये महंगे होने वाले हैं| दरअसल, सुप्रीम कोर्ट ने बढ़ते सड़क हादसों को देखते हुए आदेश दिया है कि नए वाहनों के रजिस्ट्रेशन के समय थर्ड पार्टी इंश्योरेंस अनिवार्य होगा| एक सितंबर के बाद से सभी दोपहिया और चार पहिया वाहनों को खरीदते समय थर्ड पार्टी इंश्योरेंस भी लेना होगा|

थर्ड पार्टी इंश्योरेंस ये हैं नियम 

यदि आप एक सितंबर के बाद से नए चार पहिया वाहनों का रजिस्ट्रेशन करवाते हैं तो इसके लिए आपको तीन सालों के लिए थर्ड पार्टी इंश्योरेंस लेना होगा| वहीं यदि दो पहिया वाहन खरीदते हैं तो पांच साल तक के लिए थर्ड पार्टी इंश्योरेंस लेना अनिवार्य होगा|

कोर्ट ने इंश्योरेंस कंपनी को फटकार लगाई और कहा, “रोज सड़क दुर्घटना में लोग मर रहे हैं| सड़क दुर्घटना में एक लाख से ज्यादा मौत हर साल हो जाती हैं| हर तीन मिनट में एक दुर्घटना होती है| लोग मर रहे हैं और आप कह रहे हैं कि उन्हें मरने दिया जाए| आप उनको देखिए, वे सड़क दुर्घटना में मर रहे है| भारत की जनता मर रही है, उनके लिए कुछ करिए| उनके पास पैसे नहीं होते और आप आठ महीने का समय मांग रहे हैं| किसी भी कीमत पर आपको आठ महीने का समय नहीं दिया जा सकता है|”

कोर्ट की ओर से कहा गया, “दो पहिया और चार पहिया वाहनों की थर्ड पार्टी इंश्योरेंस को अनिवार्य बनाया जाए ताकि सड़क हादसों के पीड़ितों को मुआवजा मिल सके| साथ ही बीमा कंपनियों को इसे व्यावसायिक हित के बजाय मानवीय नजरिये से देखना चाहिए|”

इस मुद्दे के लिए बनाई गई कमेटी ने अपनी रिपोर्ट में कहा, “देश की सड़कों पर चल रहे 18 करोड़ वाहनों में सिर्फ छह करोड़ के पास ही थर्ड पार्टी बीमा है| सड़क हादसों के पीड़ितों या मृतकों को मुआवजा नहीं मिल रहा है क्योंकि वाहनों को थर्ड पार्टी इंश्योरेंस कवर नहीं है|”

Share.