website counter widget

बेहद आसान है LIC पॉलिसी पर लोन लेना

0

अपने काम निपटाने के लिए कई लोग पर्सनल लोन लेते हैं या फिर क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल कर जरूरत का सामान खरीद लेते हैं। लेकिन उन्हें इसके लिए भारी ब्याज चुकाना पड़ता है। हालांकि लोन या क्रेडिट कार्ड से जरूरत के समय काफी मदद मिलती है। कई लोग तो क्रेडिट कार्ड से अनुपयोगी वस्तुएं क्रय कर लेते हैं और फिर फिजूल ही भारी ब्याज चुकाते हैं। अगर आपको लोन लेने की जरूरत ही है तो आप आपनी किसी LIC पॉलिसी पर लोन ले सकते हैं। इस पर लोन लेने से आपको न तो ज्यादा ब्याज चुकाना पड़ता है और न ही लोन जल्दी चुकाने का कोई दबाव रहता है। चलिए जानते हैं इसके बारे में।

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड के तहत सस्ते में सोना खरीदने का आखिरी मौका

अगर आप भी अपनी LIC पॉलिसी पर लोन लेना चाहते हैं तो इसकी प्रक्रिया बेहद ही आसान है। लोन लेने के लिए आपको इसमें कोई ज्यादा दस्तावेज देने की या मेहनत करने की कोई जरूरत नहीं पड़ती। आपको केवल पॉलिसी के साथ एक केंसल चेक और पहचान पत्र की कॉपी देना होती है। बस इसके बाद 3 से 4 दिनों के भीतर लोन की राशि आपके खाते में आ जाती है। आपके मन में अब ये सवाल जरूर आ रहा होगा कि इस पर लोन कितना मिल सकता है? तो आपको बता दें कि पॉलिसी मैच्योर होने से पहले उसे सरेंडर करना कोई बुद्धिमानी नहीं है। हां आपको पैसे की जरूरत है तो आप इस पर लोन ले लें। इसमें आपको आपकी पॉलिसी की कैश वैल्यू का 85 से 90 प्रतिशत लोन आसानी से मिल सकता है।

कल होगी Jio Fiber की लांचिंग, अभी करें बुकिंग

आपको बता दें कि कोई भी भारत का मूल निवासी जिसने LIC की पॉलिसी खरीदी हो वो इस पर लोन ले सकता है। हालांकि लोन लेने के लिए एक शर्त ये है कि लोन के लिए आवेदन करने से पूर्व कम से कम तीन साल तक प्रीमियम भरा गया हो। इसके अलावा LIC की मनी बैक पॉलिसी पर लोन नहीं मिलता क्योंकि इस पॉलिसी में एक निश्चित अंतराल के बाद निश्चित राशि मिल जाती है। अब जानते हैं कि आखिर इस पर लिए गए लोन पर ब्याज कितना लगता है? तो आपको बता दें कि यह एक तरह का सिक्योर्ड लोन होता है। इसी वजह से LIC पॉलिसी पर लिए गए लोन पर 9 प्रतिशत का वार्षिक ब्याज लगता है जिसे आपको प्रति 6 माह में एक बार देना होता है। ब्याज न चुकाए जाने पर यह राशी आपके मूलधन में ही जोड़ दी जाती है और फिर उस पर भी आपको ब्याज देना होता है।  पॉलिसी पर लोन लेने का सबसे बड़ा फायदा ये होता है कि यदि आपके लोन चुकाने से पहले ही आपकी पॉलिसी मैच्योर हो जाती है तो LIC आपके लोन की राशी को काटकर बाकी का पैसा आपको दे देती है।

Vodafone की प्ले मोबाइल वेबसाइट लांच, ऐप की नहीं जरूरत

Prabhat

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.