नकदी संकट से उबरने की पुरजोर कोशिश

0

देश नकदी के संकट से जूझ रहा है| देश में कई ऐसे राज्य हैं, जहां कैश संकट विरोध का मुद्दा बन चुका है| राज्यों में एटीएम भी खाली पड़े हैं| देश के कई राज्यों के नकदी संकट को दूर करने के लिए कई मोर्चों पर एक साथ ताकत झोंकी जा रही है| एक तरफ टैक्स अथॉरिटीज नकदी जमाखोरों पर छापामारी कर रही है तो दूसरी तरफ आरबीआई ने कैश की सप्लाई बढ़ा दी है| आंध्रप्रदेश और कर्नाटक में 30-35 छापामारी हुई| बिहार में एटीएम नेटवर्क के जरिये 800-900 करोड़ पंप किए गए|

देश के कई हिस्सों में छापामारी कर जमाखोरी कम करने की कोशिश की जा रही है| कैश की किल्लत के लिए 2000 के नोटों की जमाखोरी को मुख्य वजह बताई जा रही थी| ऐसे में सरकार जमाखोरों पर सख्त हो गई है| अधिकारी भले ही यह दावा भी कर रहे हैं कि एटीएम अब सामान्य ढंग से काम करने लगे हैं, लेकिन कई राज्यों में स्थिति अब भी खराब है और कैश फ्लो को बढ़ाने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं| एटीएम ऑपरेशन कंपनीज के एग्जिक्युटिव्स का कहना है कि वे 200 और 500 के नोटों को भरने पर फोकस कर रहे हैं|

एटीएम में नकदी की किल्लत दूर करने के लिए सरकार के सख्त रुख से हालात सुधरने के आसार हैं| अधिकांश राज्यों में 80 फीसद एटीएम में कैश है जबकि बाकी राज्यों में बैंकों को एक दिन के भीतर तीन चौथाई से अधिक एटीएम में कैश उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया है|

Share.