website counter widget

RBI New Rule 2019 : RBI का नया नियम ATM से नहीं निकले पैसे तो मिलेगा हर्जाना

0

भारतीय रिजर्व बैंक ने (RBI) अब उपभोक्ताओं को राहत देने के लिए बैंकों को टर्नअराउंड टाइम (TAT) के लिए आदेश जारी कर दिया है। दरअसल ATM का इस्तेमाल तो हर किसी ने किया होगा और करता होगा। लेकिन कई बार ऐसी समस्या सामने आती है की ट्रांजैक्शन फेल (RBI New Rule 2019 For Transaction Failed) हो जाता है लेकिन खाते से पैसे कट जाते हैं। मतलब कई बार जब हम ATM से पैसे निकालते हैं तो पैसे तो नहीं निकलते लेकिन खाते से पैसे कट जाते हैं। ट्रांजैक्शन फेल संबंधी शिकयतों के बढ़ने की वजह से RBI ने बैंकों को इसका जल्द से जल्द निपटारा करने के आदेश जारी कर दिए हैं (RBI New Rule 2019)।

सोने-चांदी की कीमतों में चौथे दिन भी गिरावट, जाने आज के भाव

RBI ने बैंकों को आदेश जारी कर इन समस्यायों का जल्द से जल्द निपटारा करने को कहा है। वहीं बैंकों से आरबीआई ने यह भी कहा है कि यदि इसके लिए ग्राहकों को कोई हर्जाना देना बनता है तो उसका भी भुगतान निर्धारित समय में किया जाना चाहिए। RBI ने कहा कि किसी भी तरह के हर्जाने का भुगतान बैंकों को खुद ही संज्ञान लेकर करना होगा। इस बात के लिए बैंकों को ग्राहकों की शिकायत पर निर्भर नहीं होना चाहिए (RBI New Rule 2019)। बैंकों को खुद आगे रहकर पूरे हर्जाने का संज्ञान लेते हुए ग्राहकों को उसका भुगतान करना होगा।

Gold Price : और भी सस्ते हुए सोने-चांदी

उपभोक्ताओं की परेशानी को हल करने के लिए बीते अप्रैल माह में भी RBI ने टर्नअराउंड टाइम को लेकर कदम उठाया था। दरअसल ग्राहकों द्वारा पेमेंट सिस्टम्स को लेकर RBI के पास कई शिकायतें दर्ज कराई गई थीं। इन शिकायतों के आधार पर आरबीआई ने कहा – “सभी तरह के इलेक्ट्रॉनिक लेनदेन में ग्राहकों की सहूलियत बढ़ाने के लिए यह जरूरी था कि टर्नअराउंड टाइम को ठीक किया जाए। ग्राहकों को फायदा पहुंचाने के लिए हमने हर्जाने का प्रावधान किया है।” RBI की तरफ से 8 प्रकार के लेनदेन पर नया नियम लागू हो गया है। इन लेनदेन में ATM ट्रांजेक्शन, इमिडिएट पेमेंट सिस्टम, यूनिफाइड पेमेंट सिस्टम और प्रीपेड कार्ड्स सिस्टम शामिल किए गए हैं। वहीं अगर पेमेंट संबंधी कोई समस्या आती है तो पहले 5 दिनों के दौरान खाते में पैसा वापिस किया जाता था लेकिन अब इसे 1 दिन बाद ही पैसे ऑटो रिवर्स हो जाएंगे। वहीं पैसा निर्धारित समयावधि में ऑटो रिवर्स न होने की स्थिति में हर्जाने की राशि को 100 रुपए प्रतिदिन के हिसाब से तय किया गया है।

WOW सोना-चांदी हुआ सस्ता, जानें आज की कीमत

Prabhat Jain

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.