website counter widget

election

RBI के बचाव में आए रघुराम राजन

0

रिजर्व बैंक और केन्द्र सरकार के बीच चल रही तनातनी पर रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन का बयान सामने आया है| उन्होंने आरबीआई का पक्ष लेते हुए कहा, एक स्वतंत्र और स्वायत्त केन्द्रीय बैंक से राष्ट्र को फायदा ही पहुंचता है| वहीं इसके पहले अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष द्वारा भी भारत सरकार को कदम पीछे खींचने की सलाह दी जा चुकी है|

एक इंटरव्यू में रघुराम राजन ने आरबीआई का पक्ष लिया है| उन्होंने कहा, “भारत सरकार और केन्द्रीय रिजर्व बैंक के बीच मचे संग्राम पर तभी लगाम लग सकता है जब दोनों एक-दूसरे की मंशा और स्वायत्तता का सम्मान करें| जहां तक संभव है रिजर्व बैंक की स्वायत्तता को बरकरार रखना देश के हित में है और ऐसा करना देश की परंपरा रही है|”

गौरतलब है कि सरकार और आरबीआई के बीच  खटास की प्रमुख वजह वित्तीय फैसलों में रिजर्व बैंक की अधिक भूमिका को माना जा रहा है| केन्द्र सरकार और रिजर्व बैंक गवर्नर के बीच विवाद की अहम वजह केन्द्रीय रिजर्व बैंक के पास मौजूद 9.6 ट्रिलियन (9.6 लाख करोड़) रुपए की रकम है| केन्द्र सरकार का दावा  है कि इतनी बड़ी रकम रिजर्व बैंक के रिजर्व खाते में रहने का कोई मतलब नहीं है| सरकार इस कोष से देश में सरकारी बैंकों में नई ऊर्जा का संचार करते हुए कारोबार में वृद्धि लाना चाहती हैं|

Share.