पीएनबी ने शुरू की ‘मिशन गांधीगीरी’

0

नीरव मोदी और मेहुल चोकसी देश के हजारों करोड़ रुपए लेकर भाग गए हैं, लेकिन पंजाब नेशनल बैंक ने डूबे कर्ज की वसूली के लिए अनूठा अभियान शुरू किया है। पीएनबी के कर्मचारियों ने डूबे कर्ज की वसूली के लिए अनूठा अभियान ‘गांधीगीरी’ शुरू किया है।

एक साल तक चलेगा मिशन

पीएनबी बैंक के कर्मचारी डिफॉल्टरों के दफ्तरों के बाहर शांति से तख्तियां लेकर बैठते हैं। बैंक को उम्मीद है कि इस तरह से भुगतान नहीं करने वाले पुराने कर्जदारों को शर्मिंदा कर वह हर महीने 150 करोड़ रुपए के पुराने फंसे कर्ज की वसूली करेगा। यह मिशन गांधीगीरी एक साल तक चलेगा।

बैंक के सख्त कदम

पीएनबी बैंक ने डिफॉल्टर्स के खिलाफ सख्त कदम उठाते हुए पिछले कुछ महीने में 150 पासपोर्ट जब्त किए हैं। इसके अलावा पिछले 9 महीनों में डिफॉल्टर्स के खिलाफ 37 एफआईआर दर्ज कराई गई है। साथ ही बैंक लोन रिकवरी और रिस्क मैनेजमेंट के तहत डाटा एनालिटिक्स की भी पड़ताल कर रहा है।

क्रेडिट एजेंसी से करार

इसके अलावा बैंक ने कर्ज वसूली के लिए एक प्रमुख क्रेडिट एजेंसी से करार किया है। इस भागीदारी से बैंक को लोन रिकवरी में मदद मिलेगी बल्कि कर्ज देने की रणनीति, लोन और इससे जुड़े धोखाधड़ी के जोखिम को भी शिनाख्त करने में आसानी होगी।

Share.