पीएनबी ने की 151 करोड़ रुपए की वसूली

0

देश के सबसे बड़े बैंकिंग कर्ज घोटाले से जूझ रहे पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) ने वित्त वर्ष 2017-18 में अपने खाताधारकों से करीब 151.66 करोड़ रुपए मात्र जुर्माने के तौर पर वसूले हैं। करीब 1.23 करोड़ खाताधारकों वाले बैंक ने एक आरटीआई के जवाब में बताया है कि यह जुर्माना खाते में मिनिमम बैलेंस नहीं बनाए रखने के लिए वसूला गया है। बता दें कि पीएनबी से ही करीब 14 हजार करोड़ रुपए का कर्ज लेकर हीरा कारोबारी नीरव मोदी फरार चल रहा है, जिसके लिए बैंक के आंतरिक सिस्टम की बेहद आलोचना हुई है।

आरटीआई कार्यकर्ता चंद्रशेखर गौड़ की तरफ से मांगी गई जानकारी के जवाब में बैंक की तरफ से बताया गया कि बैंक के पिछले वित्त वर्ष के अंत में कुल 1,22,98748 खाताधारक थे, जिनमें से मिनिमम बैलेंस नहीं बनाए रखने वालों से पहले क्वार्टर में 31.99 करोड़ रुपए, दूसरे क्वार्टर में 29.43 करोड़ रुपए, तीसरे में 37.27 करोड़ रुपए और चौथे क्वार्टर में सबसे ज्यादा 52.97 करोड़ रुपए जुर्माना वसूला गया।

यह है मिनिमम बैलेंस चार्ज

1000 रुपया ग्रामीण क्षेत्रों के खातों में तीन महीने का क्वार्टर पूरा होते समय रखना अनिवार्य है। अर्धशहरी, शहरी व मेट्रो सिटी घोषित क्षेत्रों के बैंक खातों में 2000 रुपया है यह मिनिमम बैलेंस।  वहीं बैंक मिनिमम बैलेंस नहीं होने पर खाताधारकों से 25 से 250 रुपया तक जुर्माना वसूलता है।

Share.