पेट्रोल-डीजल भी मेड इन चाइना

0

पेट्रोल-डीज़ल की कीमतों में लगातार वृद्धि होती जा रही है| तेल की ऊंची कीमतों पर लगाम लगाने के लिए भारत ने ‘ऑर्गनाइजेशन ऑफ पेट्रोलियम एक्‍सपोर्टिंग कंट्रीज’ से पेट्रोल-डीजल नहीं खरीदने का फैसला किया है| अब भारत में पेट्रोल-डीज़ल भी मेड इन चाइना होने वाला है|

दरअसल, भारत ने उत्‍पादक देशों के प्रमुख संगठन  से क्रूड ऑइल न खरीदकर अमरीका और चीन से खरीदने का फैसला किया है| इस विषय में देशों से बातचीत भी शुरू कर दी गई है| पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने ओपेक की बैठक में कहा कि यदि वे कीमतों को कम नहीं करेंगे तो हमें मजबूरन दूसरा विकल्प देखना होगा|

भारत ने ओपेक की बैठक के पहले चीन के साथ भी इस विषय पर चर्चा की| बैठक में तय हुआ कि भारत चीनी कंपनियों से सीधे इक्विटी क्रूड खरीदेगा| इस बैठक का हिस्सा देश की सबसे बड़ी ऑइल रिफाइनरी इंडियन ऑइल के प्रमुख संजीव सिंह भी बने|

Share.