website counter widget

ई-वॉलेट वालों के लिए खुशखबर…

0

वर्तमान समय में डिजिटल क्रांति ने सभी दूर अपने पैर पसार लिए हैं | हर कार्य ऑनलाइन होने लगा है| ऐसे में कोई भी व्यक्ति नकदी के बजाय डिजिटल तरीके से ट्रांजेक्शन करना पसंद करता है| कई लोग आज ई-वॉलेट का इस्‍तेमाल करने लगे हैं| यदि आप भी ई-वॉलेट का इस्तेमाल करते हैं तो आपके लिए एक अच्छी खबर है। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की नई गाइड लाइन के मुताबिक, यदि किसी ग्राहक के साथ कम्पनी की लापरवाही से फ्रॉड होता है तो उसके नुकसान के भुगतान की पूरी राशि वापस दी जाएगी।

नई गाइड लाइन के मुताबिक, यदि ई-वॉलेट या प्री-पेड इंस्‍ट्रमेंट जारी करने वाली कंपनी की लापरवाही से कोई फ्रॉड होता है तो ग्राहक इसके लिए जिम्‍मेदार नहीं होगा। इसी तरह अगर थर्ड पार्टी एजेंसी की गलती से ग्राहक को किसी भी तरह का नुकसान होता है तो भी ग्राहक को नुकसान की पूरी राशि दी जाएगी।

फ्रॉड की जानकारी मिलने के ग्राहक को तीन दिनों के अंदर इसकी शिकायत ई-वॉलेट कंपनी से करनी होगी। तीन दिन के अंदर शिकायत करने पर ग्राहक को पूरी भरपाई की जाएगी। यदि शिकायत 4 से सात दिन के अंदर की जाती है तो नुकसान की असली रकम या फिर अधिकतम दस हजार रुपए में से जो भी कम होगा वही दिया जाएगा। यदि 7 दिन के बाद ग्राहक शिकायत दर्ज़ करवाता है तो ई-वॉलेट कंपनी की इस मामले पर जो पॉलिसी होगी, उसी के हिसाब से भरपाई की जाएगी।

रिजर्व बैंक ने इसी के साथ यह भी साफ कर दिया है यदि ग्राहक की गलती से गलत सौदा किया जाता है तो इसके लिए थर्ड पार्टी की कोई जिम्‍मेदारी नहीं होगी और इसकी पूरी जिम्‍मेदारी ग्राहक की होगी। हालांकि ग्राहक की लापरवाही के कारण फ्रॉड हुआ है इसके बारे में ई-वॉलेट कंपनी को साबित करना होगा। रिजर्व बैंक ने ये भी प्रावधान किया है कि अगर कोई ई-वॉलेट कंपनी चाहे तो ग्राहक की गलती होने के बावजूद भी उसे भरपाई कर सकती है।

-अंकुर उपाध्याय

WhatsApp  यूजर्स की आई शामत

PAYTM पर अब उधार खाता शुरू

2000 रुपए के नोट पर लगा ब्रेक…

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Share.