Budget 2019 : आर्थिक सुरक्षा के साथ शिक्षा और स्वास्थ्य में बेहतरी चाहिए

0

लोकसभा चुनाव के बाद भाजपानीत नरेन्द्र मोदी ने ऐतिहासिक जीत हासिल की थी | इस नई सरकार में निर्मला सीतारमण को वित्तमंत्री बनाया गया था | इस नई सरकार का पहला आम बजट वे आज 11 बजे पेश कर रही हैं | मध्य प्रदेश  की महिलाओं को भी बजट का इंतज़ार है| घरेलू महिलाएं हों या फिर कामकाजी, सभी को  बजट (Union Budget 2019 ) से काफी उम्मीदें हैं| बजट में महिलाएं अपनी आर्थिक सुरक्षा के साथ शिक्षा और स्वास्थ्य में बेहतरी के लिए भी सुविधाएं चाहती हैं|

LIC की जीवन उमंग पॉलिसी कर देगी आपको मालामाल

मध्य प्रदेश  की महिलाओं को वित्तमंत्री (Union Budget 2019 ) से ये उम्मीदें हैं|

सरकार को महिलाओं को हर क्षेत्र में टैक्स में ज्यादा रियायत देनी चाहिए|

सर्विस टैक्स, वैट टैक्स के नाम पर होटल में खाना और पार्लर का खर्च सब महंगा हो गया है| इस पर सरकार को कोई ठोस कदम उठाना चाहिए|

ट्रान्सपोटेशन,यात्रा टिकट और पेट्रोल की कीमतों में बढ़ोतरी से बजट मैनेजमेंट बिगड़ता है,महिलाओं को इसमें रिबेटस चाहिए|

कामकाजी महिलाओं के लिए स्टार्ट अप योजना में ब्याज दर में रियायत दी जाए ताकि महिलाएं आर्थिक रूप से सुरक्षित हो सकें|

Union Budget 2019 : मोदी सरकार जनता और किसानों को देगी ये 4 सौगातें

बजट आम आदमी की जेब से फ्रेंडली हो ताकि सेविंग बढ़े|

स्वास्थ्य के क्षेत्र में महिलाओं के लिए विशेष पॉलिसी हो और रोज़ाना की दवाओं के रेटस में छूट मिले|

सरकार का फोकस महिला सुरक्षा पर होना चाहिए, इसके लिए बजट में अलग से प्रावधान हो|

अच्छी शिक्षा और चिकित्सा महंगाई आसमान छूती जा रही है| बढ़ती महंगाई के कारण मध्यवर्गीय परिवारों के लिए बच्चों को उच्च शिक्षा दिलाना नामुमकिन है| इस पर सरकार को ध्यान देना चाहिए|

ब्यूटी और कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स, सर्विसेज,ज्वेलरी और कपड़े सब महंगे होते जा रहे हैं, इनकी कीमतों पर लगाम लगाई जाए|

महिलाओं की मांग है कि महिला उद्यमियों को प्रोत्साहित करने के लिए प्रावधान किए जाएं

#  पर्यावरण की रक्षा के लिए सरकार कदम उठाए|

बीते कुछ साल में बढ़ी महंगाई के कारण गृहिणी का घर का बजट गड़बड़ाया हुआ है| इसलिए हर गृहिणी की पहली उम्मीद यही है कि महिला होने के कारण वित्त मंत्री इस समस्या को समझेंगी और राहत का पिटारा लेकर आएंगे|

Budget 2019 : 35 साल बाद फिर लागू हो सकता है पैतृक सम्पत्ति पर टैक्स

Share.