जीएसटी में फिर बदलाव लाएंगे पीएम मोदी

1

पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव में भाजपा को करारी हार का सामना करना पड़ा| अपनी इस हार के बाद भाजपा आने वाले चुनाव यानी आम चुनाव में किसी भी तरह की लापरवाही नहीं बरतना चाहती है| लोकसभा चुनाव के मद्देनज़र जनता को लुभाने के उद्देश्य से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संकेत दिए हैं कि ‘माल एवं सेवा कर’ को और सरल बनाया जाएगा और इसके लिए कई वस्तुओं को जीएसटी के दायरे में रखा जाएगा| उन्होंने कहा कि उनकी सरकार चाहती है कि 99 प्रतिशत सामान या चीजें जीएसटी के 18 प्रतिशत के कर स्लैब में रहें| दरअसल, एक कार्यक्रम में पीएम ने नई जीएसटी नीति के बारे में बताया|

पीएम मोदी ने कहा, “आज जीएसटी व्यवस्था काफी हद तक स्थापित हो चुकी है और हम उस दिशा में काम कर रहे हैं, जहां 99 प्रतिशत चीजें जीएसटी के 18 प्रतिशत कर स्लैब में आएं| हमारा मानना है कि उद्यमों के लिए जीएसटी को अधिक से अधिक सरल किया जाना चाहिये|” उन्होंने संकेत दिया कि जीएसटी का 28 प्रतिशत कर स्लैब केवल लक्ज़री उत्पादों जैसी चुनिंदा वस्तुओं के लिए होगा|

प्रधानमंत्री ने आगे कहा, “शुरुआती दिनों में जीएसटी अलग-अलग राज्यों में मौजूद वैट या उत्पाद शुल्क के आधार पर तैयार किया गया था| हालांकि समय-समय पर बातचीत के बाद कर व्यवस्था में सुधार हो रहा है| देश दशकों से जीएसटी की मांग कर रहा था| मुझे यह कहते हुए प्रसन्नता हो रही है कि जीएसटी लागू होने से व्यापार में बाधाएं दूर हो रही हैं और प्रणाली की दक्षता में सुधार हो रहा है, साथ ही अर्थव्यवस्था भी पारदर्शी हो रही है|”

नोटबंदी और जीएसटी खराब फैसला : राजन

जीएसटी के बारे में जानेगी दुनिया

इस राज्य में विद्यार्थियों को पढ़ाया जाएगा जीएसटी

Share.