website counter widget

नंदन नीलकेणी होंगे डिजिटल पेमेंट कमेटी के चैयरमैन

0

भारतीय रिजर्व बैंक ने इंफोसिस के को-फाउंडर नंदर नीलेकेणी की देखरेख में एक कमेटी का गठन किया है। कमेटी देश में डिजिटल भुगतान की सुरक्षा और उसे मजबूत करने से जुड़े उपाय सुझाएगी। बता दें कि नंदन नीलकेणी ने ही देश में हर व्यक्ति को आधार उपलब्ध करवाने के लिए एक प्रोजेक्ट तैयार किया था।

केंद्रीय बैंक की ओर से जारी किए बयान में कहा गया है कि पांच सदस्यों वाली इस कमेट का गठन डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने और डिजिटाइजेशन के जरिए वित्तीय समावेषण को बढ़ाना देने के उद्देश्य से किया गया है। इसमें कहा गया कि कमेटी को अपनी पहली बैठक के बाद अगले 90 दिनों के भीतर अपनी रिपोर्ट सौंपनी होगी।

इस पैनल को देश में भुगतान के डिजिटलीकरण की मौजूदा स्थिति की समीक्षा करने, इकोसिस्टम में गैप का पता लगाने और उनको पाटने का सुझाव देने का कार्य सौंपा गया है। वहीं वित्तीय समावेशन में डिजिटल भुगतान के वर्तमान स्तरों का आकलन करने का भी जिम्मा दिया है।

वहीं कमेटी को डिजिटल पेमेंट की सुरक्षा को मजबूत बनाने के लिए जरूरी कदमों के बारे में भी जानकारी देनी है। सात ही इस कमेटी को दूसरे देशों में मौजूदा व्यवस्थाओं का आकलन भी करना है।

बता दें कि इस कमेटी में नंदन नीलेकणी के अलावा अन्य सदस्यों में आरबीआई के डिप्टी गवर्नर एच आर खान, विजया बैंक के पूर्व एमडी और सीईओ किशोर सनसी और आईटी व स्टील मंत्रालय में पूर्व सचिव अरुणा शर्मा और आईआईएम अहदाबाद में चीफ इनोवेशन ऑफिसर संजय जैन शामिल हैं।

कुशाग्र

भारत की सीमा पर चीन ने तैनात की तोपें

वर्ल्ड बैंक के अध्यक्ष ने दिया इस्तीफा…

बस ड्राइवर हेलमेट में क्यों ?

 

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.