website counter widget

election

शॉपिंग करते समय बचें इन मार्केटिंग ट्रिक्स से नहीं तो…

0

त्यौहारी सीजन चल रहा है, ऐसे में लोग जमकर शॉपिंग करते हैं वहीं कंपनियां भी एक से बढ़कर एक मार्केटिंग ट्रिक्स का उपयोग करके लोगों को अपने जाल में फंसाने के लिए तैयार रहती हैं ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग उनके सामान खरीद सकें| कंपनियां कई प्रकार के लालच भी देती हैं, जैसे अपैरल, गैजेट्स, कार और घर पर विशेष ऑफर और भारी छूट| इन लुभावने ऑफर को देखकर लोग छूट के चक्कर में ज्यादा पैसा खर्च कर देते हैं| आज हम आपको कम्पनियों द्वारा अपनाई जाने वाली वही मार्केटिंग ट्रिक्स बता रहे हैं, जिनसे बचकर रहना चाहिए|

छूट देकर छलावा

आजकल कई कंपनियों द्वारा प्रत्येक सामान पर छूट दी जा रही है| ये छूट पचास प्रतिशत या उससे ज्यादा की भी होती है| दरअसल, ऐसा बिक्री बढ़ाने के लिए किया जाता है| छूट या तो पुराने सामान पर या फिर किसी ऐसे उत्पाद पर दी जाती है, जिसे आप खरीदना पसंद नहीं करेंगे|

भावनात्मक प्रहार

कंपनियों द्वारा ऐसे विज्ञापन दिए जाते हैं, जो लोगों को भावनात्मक रूप से जोड़े| लोगों को इस तरह से सामान खरीदने का लालच दिया जाता है ताकि वे ज्यादा पैसा खर्च करके खुशियों के बारे में सोचें| विज्ञापन देखकर कई लोग सामान खरीदने के लिए प्रेरित हो जाते हैं|

कैशबैक के चक्कर में ज्यादा सामान

आजकल कंपनियां कैशबैक के जरिये लोगों को फंसा रही हैं| वे कई कैशबैक ऑफर देते हैं, जिनमें ज्यादा रुपए का सामान खरीदने पर कैशबैक मिलता है| जैसे यदि आप 10,000 का सामान खरीदेंगे तो आपको 1000 रुपए का कैशबैक दिया जाएगा| इस कैशबैक के कारण भी कई लोग कंपनियों के झांसे में आ जाते हैं|

फेस्टिव सीजन में ही क्यों ऑफर

हमने देखा होगा कि हमेशा फेस्टिव सीजन में ही कंपनियां ऑफर देती है, ऐसा इसीलिए क्योंकि त्यौहारों के समय लोग ज्यादा शॉपिंग करते हैं| कंपनियों का साल भर का पूरा एवरेज अक्टूबर से लेकर दिसंबर तक निकल जाता है|

Share.