जियो-एयरटेल ग्राहकों को देना होगा outgoing चार्ज

0

जियो व एयरटेल ग्राहकों को अब कॉल करने के चार्ज देना होगा। जी हां रिलायंस जियो और भारती एयरटेल अपने उपभोक्ताओं से अब आउटगोइंग कॉल का शुल्क वसूलने जा रही है। दरअसल ट्राई के नियम के अनुसार अब उपभोक्ताओं से यह चार्ज वसूला जाएगा। हालांकि रिलायंस जियो ने कहा कि वह अपने उपभोक्ताओं से आउटगोइंग का जो शुल्क वसूलेगी उन्हें उतनी कीमत का डाटा मुफ्त दिया जाएगा वहीं रिलायंस जियो के बाद भारती एयरटेल ने भी अपने ग्राहकों से यह शुल्क वसूलने का एलान कर दिया है। बता दें कि अब उपभोक्ताओं को कॉल करने के लिए प्रति मिनट 6 पैसे की दर से चार्ज देना होगा।

A woman checks her mobile phone as she walks past a mobile store of Reliance Industries’ Jio telecoms unit, in Mumbai, India, July 11, 2017. REUTERS/Shailesh Andrade – RC1E582C9B50

गैरतलब है कि यह आउटगोइंग शुल्क यानी इंटरकनेक्ट यूसेज (ICU) चार्ज किसी दूसरे नेटवर्क पर कॉल करने के लिए ही देना होगा। अगर कोई जियो उपभोक्ता जियो के नेटवर्क पर ही कॉल करता है तो उसे कोई भी शुल्क नहीं देना होगा। लेकिन यदि वह किसी अन्य नेटवर्क पर कॉल करता है तो उसे 6 पैसे प्रति मिनट की दर से कॉल करना होगा। रिलायंस जियो का कहना है कि यह आउटगोइंग यानी इंटरकनेक्ट यूसेज (ICU) चार्ज ग्राहकों से तब तक लिया जाएगा जब तक ट्राई इसे ख़त्म नहीं कर देती। या फिर कंपनी को अपने ग्राहकों की कॉल के लिए पेमेंट करना होगा। हालांकि वॉट्सऐप और फेसटाइम सहित इसी तरह की अन्य ऐप्स के माध्यम से कॉल करने पर कोई भी शुल्क नहीं लिया जाएगा। वहीं सभी इनकमिंग कॉल भी पूरी तरह से फ्री रहेंगे।

दरअसल ट्राई (Telecom Regulatory Authority of India) ने साल 2017 में इंटरकनेक्ट यूसेज चार्ज (ICU) को 14 पैसे से घटा कर 6 पैसे प्रति मिनट कर दिया था। ट्राई (TRAI) ने यह चार्ज घटाते हुए यह भी कहा था कि साल 2020 के जनवरी माह से इसे पूरी तरह से समाप्त कर दिया जाएगा। फिलहाल अब ट्राई ने इस बारे में कंस्लटेशन पेपर जारी किया है। बता दें कि सभी ऑपरेटरों पर कॉल तो फ्री होगी लेकिन आउटगोइंग कॉल के दौरान रिंगिंग टाइम के लिए ग्राहकों से चार्ज लिया जाएगा। दरअसल जब भी कोई उपभोक्ता किसी दूसरे नेटवर्क पर कॉल करता है तो कॉल करने वाले ग्राहक को, उस ऑपरेटर को इंटरकनेक्ट यूसेज (ICU) चार्ज देना पड़ता है।

Prabhat Jain

Share.