क्या सच में महंगा हो गया है Paytm से पेमेंट करना? जाने सच

0

अगर आप भी पेमेंट करने के लिए डिजिटल वॉलेट पेटीएम (PayTM) का इस्तेमाल करते हैं तो आपके लिए एक बुरी खबर है। दरअसल 1 जुलाई यानी आज से पेटीएम (PayTM) मर्चेंट अपना डिस्काउंट रेट (MDR) का बोझ उपभोक्ताओं की जेब पर डालने वाली है। अब यदि आप पेटीएम से कोई पेमेंट करते हैं तो आपको MDR के लिए भी पैसे चुकाने होंगे। मतलब पेमेंट करने पर आपको इसके लिए अतिरिक्त राशि का भुगतान करना होगा।

अब बैंक रोजाना देगा 100 रुपए, RBI ने जारी किया आदेश

मीडिया रिपोर्ट्स में इस बात का दावा किया गया है कि अब यदि कोई भी उपभोक्ता पेटीएम के माध्यम से अपने क्रेडिट या डेबिट कार्ड से पेमेंट करता है तो उसे इसके लिए चार्ज देना होगा। क्रेडिट कार्ड से पेमेंट करने पर 1 प्रतिशत, डेबिट कार्ड से पेमेंट करने पर 0.9 प्रतिशत और नेट बैंकिंग या फिर यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (UPI) से पेमेंट करने पर 12 से 15 रुपए तक का चार्ज उपभोक्ता को देना होगा। यह चार्ज हर किसी भुगतान पर देना होगा।

इन तरीकों से करें अपना ITR वेरिफिकेशन

मिली जानकारी के अनुसार यदि आप वॉलेट टॉप-अप भी करते हैं तब भी आपको चार्ज देना होगा। इसके अलावा यूटिलिटी बिल भरने, स्कूल फीस जमा करने, मूवी की टिकट खरीदने या फिर शॉपिंग करने पर भी आपको शुल्क देना अनिवार्य होगा। अभी तक पेटीएम कम्पनी इस चार्ज को खुद ही वहन करती थी, लेकिन अब यह चार्ज उपभोक्ताओं से वसूला जाएगा। आखिर कंपनी के ऐसा करने के पीछे वजह क्या है? चलिए जानते हैं कि सॉफ्टबैंक और अलीबाबा ग्रुप के निवेश वाली नोएडा की कंपनी पेटीएम (PayTM) अपने ग्राहकों की जेब पर यह अतिरिक्त बोझ क्यों बढ़ा रही है?

क्या सच में महंगा हो गया है Paytm से पेमेंट करना? जाने सच

दरअसल कई एक्सपर्ट ने यह तर्क इसके जवाब में दिया है कि, ऐसा करने से कंपनी को मुनाफा होगा। इस बारे में पेटीएम कंपनी का कहना है कि वह अपने ग्राहकों से कोई भी अतिरिक्त शुल्क न तो लेता है और न भविष्य में कभी लेगा। इसके लिए पेटीएम की तरफ से उसके आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर एक पोस्ट भी किया गया है। पेटीएम ने अपने पोस्ट में यह स्पष्ट किया कि ग्राहकों को किसी भी तरह से पेटीएम के जरिए पेमेंट करने पर कोई भी अतिरिक्त शुल्क नहीं देना होगा।

Share.