website counter widget

election

क्या अमेजन और फ्लिपकार्ट पर हो रही है जालसाजी?

0

त्योहारी सीजन शुरू हो गया है, ऐसे में शॉपिंग का क्रेज़ बढ़ जाता है| दीपावली पर नए कपड़े, घर का सामान और कई अन्य सामान बहुत ख़रीदे जाते हैं| आजकल ऑनलाइन शॉपिंग का क्रेज़ बढ़ते जा रहा है, ज्यादा डिस्काउंट की चाहत में लोग ऑनलाइन व्यापार को बढ़ावा देते हैं इसलिए ही त्योहारों के सीजन में ई-कॉमर्स कंपनियां एक से बढ़ एक ऑफर लेकर आती हैं, लेकिन अब कहा जा रहा है कि ऑनलाइन शॉपिंग के माध्यम से लोगों को फंसाया जा रहा है|

जानकारी के अनुसार, कहा जा रहा है कि अमेज़न, फ्लिपकार्ट, इंडियामार्ट जैसे ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर नकली और अनअप्रूव्ड कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स बिक रहे हैं| इस मामले में कई कंपनियों को नोटिस भी भेजा जा चुका है, जिनमें अमेजन और फ्लिपकार्ट का नाम भी शामिल है| इस नोटिस में कंपनियों से नकली और मिलावटी कॉस्मेटिक्स प्रोडक्ट बेचने के आरोप पर 10 दिन के भीतर जवाब मांगा है| यदि कंपनियां दोषी पाई गई तो उनके विरुद्ध बड़ी कार्रवाई की जाएगी|

दरअसल, ‘ट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन’ ने देशभर में छापा मारकर 4 करोड़ रुपए के नकली, मिलावटी और गैरकानूनी ब्यूटी प्रोडक्ट जब्त किए| इनमें क्रीम, ग्लुटोथिओन इंजेक्शन, हायलूरोनिक एसिड इंजेक्शन, बोटुलिनम टॉक्सिन इंजेक्शन, बालों पर इस्तेमाल होने वाले हेयर सीरम, एंटी-हेयर लॉस सीरम और गोरा करने वाली क्रीम जैसे कई प्रोडक्ट्स शामिल थे| कई ऐसे भी प्रोडक्ट्स है, जिनके इंपोर्टेड ब्रांड हैं, जो देश में रजिस्टर्ड ही नहीं हैं| ब्यूरो ऑफ स्टैंडर्ड्स के अनुसार, ये केमिकल इतने खतरनाक हैं कि इनसे स्किन इंफेक्शन, आंख की बीमारी, नाखूनों को नुकसान, स्किन और नाक की एलर्जी जैसी बीमारियां हो सकती हैं| कई प्रोडक्ट्स जानलेवा होते हैं|

NetFlix, Amazon Prime पर लग सकता है बैन!

Amazon Great Indian Festival: अब मिलेगा बड़ा डिस्काउंट

Amazon के ग्राहकों के खातों से गायब हो गए करोड़ों रुपए

Share.