website counter widget

इन वजह से मौत होने पर नहीं मिलता बीमा पॉलिसी का पैसा

0

हर व्यक्ति अपने भविष्य को सुरक्षित बनाए रखे एक लिए बीमा जरूर लेता है ताकि उसके बाद उसका परिवार सुरक्षित रहे। अधिकतर लोग इंश्योरेंस प्लान में पैसा इनवेस्ट करते हैं और अलग-अलग कंपनियों से इंश्योरेंस प्लान लेते हैं। वहीं कंपनियां भी ग्राहकों को पॉलिसी के अनेकों फायदे गिनाती है और उन्हें पॉलिसी बेच देती है। लेकिन कई बार ग्राहक पॉलिसी लेते समय उसके फायदे तो सुन लेते हैं लेकिन उस पर लिखी हुई जरूरी शर्तों को नहीं पड़ते। इन शर्तों के बारे में कंपनी भी ग्राहकों को नहीं बताती है। ये कुछ शर्तें ऐसी होती हैं जिन पर पॉलिसीधारक को बीमा का एक भी पैसा नहीं मिलता। दरअसल पॉलिसीधारक की मौत को लेकर बीमा कंपनियों की कुछ शर्तें होती हैं। इन शर्तों के आधार पर इन कारणों से होने वाली मौत के लिए एक भी पैसा नहीं दिया जाता। तो चलिए जानते हैं उन शर्तों के बारे में।

कल होगी Jio Fiber की लांचिंग, अभी करें बुकिंग

आपराधिक गतिविधि – यदि पॉलिसी धारक आपराधिक गतिविधि में संलिप्त है और उसका मर्डर हो जाता है तो उसे पॉलिसी का पैसा नहीं दिया जाता। बीमा कंपनी तब तक पैसों का भुगतान नहीं करती जब तक पॉलिसीधारक के नॉमिनी के पक्ष में फैसला नहीं आ जाए। मतलब आपराधिक गतिविधियों में रहते हुए मौत हो जाने पर इंश्योरेंस क्लेम नहीं दिया जाता। हां अगर पॉलिसीधारक आपराधिक गतिविधियों में संलिप्त है लेकिन उसकी मौत किसी बीमारी की वजह से होती है तब उसे बीमे की रकम का भुगतान किया जाता है।

अल्कोहल की वजह से मौत – अगर पॉलिसीधारक अत्यधिक मात्रा में अल्कोहल सेवन करता हो और उसकी मौत अल्कोहल की वजह से हो जाती है तो उसे इंश्योरेंस क्लेम नहीं मिलेगा।

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड के तहत सस्ते में सोना खरीदने का आखिरी मौका

स्मोकिंग की जानकारी न देना – अधिकतर पॉलिसीधारक प्लान लेते वक़्त इस बात को छिपाते हैं कि उन्हें ज्यादा स्मोकिंग करने के आदत है। स्मोकिंग करने से हेल्थ से जुड़ी कई समस्याएं होती हैं। वहीं यदि स्मोकिंग की वजह से पॉलिसीधारक की मौत होती है तो उसे इंश्योरेंस क्लेम नहीं दिया जाता।

खतरनाक गतिविधियां – एडवेंचर, खतरनाक गतिविधियों और स्टंट आदि की वजह से मौत होने पर भी इंश्योरेंस क्लेम नहीं दिया जाता है। क्योंकि कंपनी का मानना है कि पॉलिसीधारक अपनी जान को खुद जोखिम में डालते हैं और मौत का खतरा उठाते हैं। अगर पॉलिसीधारक की कार और बाइक रेसिंग, स्काईडाविंग, पैरागलाइडिंग, पैराशुटिंग और हाईकिंग जैसे एडवेंचर स्पोर्ट्स की वजह से मौत हो जाती है उन्हें इंश्योरेंस क्लेम की रकम नहीं दी जाती है।

Vodafone की प्ले मोबाइल वेबसाइट लांच, ऐप की नहीं जरूरत

प्रसव के कारण मौत – पॉलिसीधारक की मौत यदि प्रसव के दौरान होती है तो बीमा कंपनी इसके लिए इंश्योरेंस क्लेम की अनुमति नहीं देता।

आत्महत्या – अगर पॉलिसीधारक किसी वजह से आत्महत्या कर लेता है तो उसे इंश्योरेंस क्लेम नहीं दिया जाता है।

प्राकृति आपदा – अगर प्राकृतिक आपदा जैसे कि भूकंप या फिर तूफान आदि की वजह से पॉलिसीधारक की मौत हो जाती है तो भी उसे इशोयरेंस क्लेम नहीं दिया जाता।

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.