1 फ़रवरी से रेलवे किराए में बढ़ोतरी!

0

रेल यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए एक बुरी खबर है। जल्द ही भारतीय रेलवे (Indian Railways) यात्रियों के किराए में बढोत्तरी कर सकता है। रेल यात्रा के किराए में बढ़ोत्तरी की मंजूरी रेलवे बोर्ड ने भी दे दी है। रेलवे बोर्ड से मंजूरी मिलने के बाद अब रेल अधिकारी इस पर चर्चा कर रहे हैं और इस पर मंथन जारी है। मिली जानकारी के अनुसार रेलवे जल्द ही सबअर्बन ट्रेनों से लेकर मेल/एक्सप्रेस तक की ट्रेनों में हर क्लास के किराए को बढ़ाने(Current Railway Ticket Price) की तयारी कर रहा है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार किराए में इजाफा 5 पैसे प्रति किलोमीटर से लेकर 40 पैसे प्रति किलोमीटर तक हो सकता है।

Railway Recruitment 2019 : रेलवे में बिना परीक्षा मिल रही नौकरी

अगर रेलवे अपने रेल यात्रा के किराए में 5 पैसे प्रति किलोमीटर से लेकर 40 पैसे प्रति किलोमीटर तक की वृद्धि करता है तो इस हिसाब से रेलवे की हर क्लास के किराए में 15 से 20 फीसदी तक की बढ़ोत्तरी हो जाएगी। फिलहाल किराए बढ़ाए जाने को लेकर रेलवे अधिकारियों के बीच मंथन जारी है। वहीं रेलवे द्वारा बढ़ाए गए किराए की घोषणा दिसंबर के अंत तक की जा सकती है। रेलवे द्वारा बढ़ाए गए किराए(Current Railway Ticket Price) को 1 फ़रवरी 2020 से लागू किया जा सकता है। फिलहाल इस बारे में अभी कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है।

Railway Recruitment 2019 :  रेलवे में अपरेंटिस के कई पदों पर भर्तियां

गौरतलब है कि साल 2014 में नई सकरार के गठन के बाद रेलवे के किराए में 15 फीसदी की बढ़ोतरी की गई थी। हालांकि वर्तमान समय में रेलवे जो किराया अपने यात्रियों से वसूलता है वह रेलवे लागत से औसतन 43 फीसदी कम है। किराया रेलवे लागत से कम होने की वजह से रेलवे को काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है। सब अर्बन ट्रेनों के किराए से रेलवे को 64 फीसदी नुकसान होता है जबकि नॉन सब अर्बन ट्रेन के किराए से 40 फीसदी का नुकसान होता है। एसी क्लास की बात की जाए तो एसी 1 पर तकरीबन 24 फीसदी, एसी 2 पर तकरीबन 27 फीसदी, स्लीपर क्लास पर तकरीबन 34 फीसदी और चेयर कार पर तकरीबन 16 फीसदी का नुकसान रेलवे को उठाना पड़ता है। सूत्रों से मिली जानकरी के अनुसार रेलवे को सबसे ज्यादा फायदा एसी 3 क्लास से होता है जो 7 फीसदी है।

South Western Railway Recruitment 2019 : 12वीं पास के लिए रेलवे में मौका

Prabhat Jain

Share.