निवेश से पहले जान लें ज़रूरी बातें

0

आज के दौर में हर व्यक्ति म्युचुअल फंड में निवेश करता है। म्युचुअल फंड में निवेश एक नया और शानदार विकल्प बनकर उभरा है। कई बार जानकारी के अभाव में म्युचुअल फंड में निवेश (Learn To Invest In Mutual Funds )घाटे का सौदा साबित होता है। बिना जानकारी के म्युचुअल फंड में निवेश करना खतरनाक हो सकता है, जिससे काफी नुकसान उठाना पड़ सकता है। आज हम आपको म्युचुअल फंड में निवेश से जुड़ी कुछ जानकारी देने जा रहे हैं, जिससे आप कम जोखिम उठाकर अच्छा पैसा कमा सकते हैं।

Learn To Invest In Mutual Funds : 

क्या होता है अल्फ़ा?

अल्फ़ा, फंड मैनेजर की और रिटर्न से ज्यादा से दिया गया फायदा होता है। उदाहरण के लिए यदि आपको किसी शेयर में निवेश से 10 फीसदी रिटर्न मिलता है और फंड मैनेजर आपको इससे ज्यादा रिटर्न दिला रहा है तो यह बढ़ा हुआ रिटर्न ही अल्फ़ा कहलाता है।

जानें बीटा का मतलब?

जहां अल्फ़ा का मतलब ज्यादा रिटर्न होता है, जो फंड मैनेजर द्वारा मिलता है वहीं बीटा जितने प्रतिशत होता है, उतार-चढ़ाव के दौरान आपके फंड में उतने ही फीसदी का फ़र्क़ पड़ता है। उदाहरण के लिए यदि मार्केट का बीटा 1 और आपके फंड का बीटा 1.2 है तो बाज़ार में 1 फीसदी के उछाल से आपका फंड 1.2 फीसदी चढ़ेगा। यदि मार्केट नीचे जाता है तो आपके फंड में 1.2 फीसदी की गिरावट होगी।

एंट्री लोड

एंट्री लोड का मतलब किसी फंड में निवेश करने पर उतना प्रतिशत आपके निवेश में से काट लिया जाएगा। उदाहरण के लिए यदि आप 1 लाख का निवेश किसी फंड में करते हैं और उस पर 2 प्रतिशत का एंट्री लोड है, तब आपके निवेश में से 2000 रुपए कट जाएंगे। इसका मतलब हुआ कि आपका निवेश केवल 98 हजार है।

एग्जिट लोड

किसी भी फंड में निवेश करने पर जितने महीने का एग्जिट लोड होता है, यदि उस समयावधि से पहले आप पैसा निकालते हैं तो आपको आपके निवेश का 1 प्रतिशत काटकर वापस दिया जाता है।

सोना-चांदी : आज के दाम

पेट्रोल-डीज़ल – आज का भाव

इंश्योरेंस खत्म ? नो टेंशन

Share.