website counter widget

17 माह के निचले स्तर पर आईआईपी ग्रोथ

0

कोर सेक्टर में आई गिरावट से नवंबर महीने में देश के औद्योगिक विकास की दर को झटला लगा है। मैन्युफैक्यरिंग सेक्टर विशेषकर कंज्यूमर और कैपिटल गुड्स सेक्टर के ग्रोथ में आई सुस्ती की वजह से औद्योगिक उत्पादन में जबरदस्त गिरावट आई है।

शुक्रवार को केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय की तरफ से जारी आंकड़ों के अनुसार नवंबर महीने में औद्योगिक उत्पादन सूचकांक कम होकर 0.5 फीसद हो गया, जो 17 महीनों का निचला स्तर है। पिछले साल के दौरान इसी महीने में आईआईपी 8.5 फीसद रहा था।

इससे पहले जून 2017 में आईआईपी ग्रोथ रेट 0.3 फीसद रहा था। अप्रैल से नवंबर के दौरान औद्योगिक उत्पादन की विकास दर 5 फीसद की दर से आगे बढ़ी। जो पिछले वित्त साल की पहली छमाही में 3.2 फीसद रही थी। आईआईपी में मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर की हिस्सेदारी 77.63 फीसद है, जिसमें नवंबर महीने में 0.4 फीसद की गिरावट आई है।

वहीं खनन क्षेत्र में वृद्धि दर 2.7 फीसद दर्ज की गई। वहीं नवंबर 2017 में इसकी ग्रोथ रेट 1.4 फीसद थी। पावर सेक्टर का ग्रोथ रेट 5.1 फीसद रहा,जबकि एक वर्ष पहले यह 3.9 फीसद की वृद्धि दर से आगे बढ़ा था। इस दौरान कैपिटल गुड्स के उत्पादन में 3.4 फीसद की कमी आई, जबकि पिछले वर्ष समान महीने में इसकी ग्रोथ रेट 3.7 फीसद रही थी।

बता दें कि कच्चे तेल और फर्टिलाइजर के उत्पादन में आई गिरावट की वजह से नवंबर महीने में कोर सेक्टर का ग्रोथ रेट कम होकर 16 महीनों के निचले स्तर पर चला गया था। नवंबर इस सेक्टर ग्रोथ रेट 3.5 फीसद दर्ज किया गया था।

कुशाग्र

बुआ-बबुआ आज कर सकते है गठबंधन का ऐलान

करोड़ों युवाओँ की प्रेरणा बने स्वामी विवेकानंद जी की जयंती आज

कांग्रेस नेत्री ट्विंकल डागरे हत्याकांड का पर्दाफाश

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Share.