ICICI बैंक को 16 साल में सबसे बड़ा झटका

0

प्राइवेट सेक्टर के बड़े बैंक आईसीआईसीआई बैंक को 16 साल में पहली बार घाटा हुआ है। डूबते कर्ज का असर कंपनी के तिमाही नतीजों पर देखने को मिला। वित्त वर्ष 2019 की पहली तिमाही (अप्रैल-जून तिमाही) में ICICI Bank को  119.5 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है जबकि वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही (अप्रैल-जून) में बैंक का मुनाफा 2,049 करोड़ रुपए रहा था।

वित्त वर्ष 2019 की पहली तिमाही में आईसीआईसीआई बैंक की ब्याज आय 9.2 फीसदी बढ़कर 6,102 करोड़ रुपए पर पहुंच गई है। वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में आईसीआईसीआई बैंक की ब्याज आय 5,590 करोड़ रुपए रही थी। तिमाही दर तिमाही आधार पर अप्रैल-जून तिमाही में ICICI Bank का ग्रॉस एनपीए (नॉन परफॉर्मिंग एसेट) यानी डूबा कर्ज 8.84 फीसदी से घटकर 8.81 फीसदी पर रहा है।

तिमाही आधार पर पहली तिमाही में आईसीआईसीआई बैंक का ग्रॉस एनपीए 54,063 करोड़ रुपए से घटकर 53,465 करोड़ रुपए रहा है। तिमाही आधार पर अप्रैल-जून तिमाही में ICICI Bank बैंक का नेट एनपीए 27,886 करोड़ रुपए से घटकर 24,170 करोड़ रुपए रहा है।

तिमाही आधार पर पहली तिमाही में ICICI Bank की प्रोविजनिंग 6,626 करोड़ रुपए से घटकर 5,971 करोड़ रुपए रही है, जबकि पिछले साल की अप्रैल-जून तिमाही में प्रोविजनिंग 2,609 करोड़ रुपए रही थी।

ICICI बैंक को बड़ा नुकसान 

Share.